--Advertisement--

मां ने की थी अपने दो मासूम बच्चों की गला घोंटकर कर हत्या, संदिग्ध परिस्थितियों में घर में मृत मिले थे भाई बहन, प्रेमी के साथ रची थी साजिश

मां ने की थी अपने दो मासूम बच्चों की गला घोंटकर कर हत्या, संदिग्ध परिस्थितियों में घर में मृत मिले थे भाई बहन, प्रेमी के साथ रची थी साजिश

Danik Bhaskar | Nov 24, 2017, 03:48 PM IST
आरोपी मां व बच्चों के शव। आरोपी मां व बच्चों के शव।

देवेंद्र पाल सिंह, भिवाड़ी (अलवर)। भिवाड़ी में दो मासूम बच्चों की रहस्यमयी परिस्थितियों में मंगलवार को हुई मौत के मामले का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा कर दिया। मासूमों की गला घोंटकर उनकी मां ने ही हत्या की थी। हत्या की साजिश आरोपी मां के प्रेमी ने रची थी। दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जानिए कैसे बची बड़ी बच्ची की जान ...

- मंगलवार को यूआईटी फेज थर्ड थाना अंतर्गत ग्राम जोडिया मेव निवासी रसीद के चार साल के बेटे मोहम्मद सैफ और डेढ़ साल की बेटी हिबा को दोपहर में उनकी मां मुनफिदा ने नहलाकर सुलाया था। शाम को जब बच्चों को देखा तो दोनों मृत मिले। मंगलवार दोपहर के मामले की सूचना पुलिस को देर रात लग सकी थी। परिजनों ने मामले की पुलिस को सूचना देना ही मुनासिब नहीं समझा।

मां बयान बदलती रही और शक गहराता गया
- पुलिस ने घटना के वक्त घर में मौजूद मृतक बच्चों के पिता, मां व ताई से पूछताछ शुरू की। पुलिस शुरुआत से हत्या के एंगल से मामले की जांच कर रही थी। शुरुआती पूछताछ में बच्चों की मां अपने बयान बार-बार बदलती रही जिससे पुलिस का शक उस पर और गहरा गया।

आखिर टूट गई

- कड़ी पूछताछ के बाद मुनफिदा टूट गई और उसने बच्चों की गला घोंट कर हत्या करना स्वीकार कर लिया। हत्या की साजिश उसके प्रेमी समयदीन ने रची थी। उसे भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

- आरोपी मुनफीदा का पति रसीद स्वभाव से बेहद सीधासादा है। उससे मुनफिदा खुश नहीं थी। उसका अपने जीजा के भाई समयदीन से प्रेम प्रसंग चल रहा था और दोनों शादी करना चाहते थे। बीच में रोड़ा बन रहे दोनों बच्चों को रास्ते से हटाने के लिए मुनफिदा ने अपने प्रेमी समयदिन के साथ मिलकर बच्चों की ह्त्या की साजिश रची थी।

... और ले ली अपने ही बच्चों की जान, बची बड़ी बेटी की जान
- मुनफिदा ने मंगलवार को दोनों बच्चों को नहलाया और सुला दिया जिसके बाद वह खुद नहाकर आई और बेटी हिबा व बेटे सैफ को गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया मुनफिदा घटना के बाद तुरंत अपने पीहर फरार हो गई। सीओ सिद्धांत शर्मा ने बताया की प्रेमी समयदिन ने ही मुनफिदा के लिए हत्या करने का तरीका बताया। समयदिन लगभग डेढ़ माह से उसके घर पर ही रह रहा था जिसको लेकर उसकी सास व पति को आपत्ति थी। वह अपने प्रेमी के साथ रहना चाहती थी, लेकिन प्रेमी उसके बच्चों को साथ नहीं रखना चाहता था। उसकी सबसे बड़ी बेटी अपने मामा के यहां चले जाने के कारण बच गई।

आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज
फोटो : देवेंद्र पाल सिंह