जयपुर / 2 साल में 150 चेन स्नेचिंग कर चुका कुख्यात टोपी वाला लुटेरा गिरफ्तार, पता पूछने के बहाने लूटता था चेन



पुलिस की गिरफ्त में आरोपी लूटेरा रामचंद्र टोपीवाला पुलिस की गिरफ्त में आरोपी लूटेरा रामचंद्र टोपीवाला
शहर के कई इलाकों में की महिलाओं के गले से चेन छीनने की वारदात शहर के कई इलाकों में की महिलाओं के गले से चेन छीनने की वारदात
सीसीटीवी फुटेज में यूं टोपी पहने नजर आता था रामचंद्र सीसीटीवी फुटेज में यूं टोपी पहने नजर आता था रामचंद्र
प्रेस कॉफ्रेंस में जानकारी देते डीसीपी पूर्व राहुल जैन प्रेस कॉफ्रेंस में जानकारी देते डीसीपी पूर्व राहुल जैन
X
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी लूटेरा रामचंद्र टोपीवालापुलिस की गिरफ्त में आरोपी लूटेरा रामचंद्र टोपीवाला
शहर के कई इलाकों में की महिलाओं के गले से चेन छीनने की वारदातशहर के कई इलाकों में की महिलाओं के गले से चेन छीनने की वारदात
सीसीटीवी फुटेज में यूं टोपी पहने नजर आता था रामचंद्रसीसीटीवी फुटेज में यूं टोपी पहने नजर आता था रामचंद्र
प्रेस कॉफ्रेंस में जानकारी देते डीसीपी पूर्व राहुल जैनप्रेस कॉफ्रेंस में जानकारी देते डीसीपी पूर्व राहुल जैन

  • जवाहर सर्किल थाना पुलिस ने यूपी से पकड़ा, सिर पर पहनी टोपी थी पहचान
  • देश के कई शहरों, राज्यों में चेन स्नेचिंग की वारदातें कर चुका है रामचंद्र टोपी वाला

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2019, 06:48 PM IST

जयपुर. राजधानी में पिछले दो साल में चेन स्नेचिंग की डेढ़ सौ वारदातें कर चुका अन्तर्राजीय कुख्यात बदमाश को पुलिस ने उत्तरप्रदेश से गिरफ्तार कर लिया। यह बदमाश और उसके साथी शहर में राहगीर महिलाओं के लिए दहशत का पर्याय बन गया था। पुलिस कमिश्नर आनन्द श्रीवास्तव ने बताया कि गिरफ्तार रामचन्द्र बावरिया उर्फ अर्जुन बावरिया (30) निवासी रामपुरा गांव, झिन्झाना तहसील, जिला शामली, उत्तर प्रदेश है। आरोपी को पकड़ने के लिए डीसीपी पूर्व राहुल जैन व एडिशनल डीसीपी ललित किशोर शर्मा के निर्देशन में स्पेशल रुप से गठित पुलिस टीम ने कार्रवाई की।

यूपी से बस में जयपुर आता, साथी की बाइक से तीन-चार चेन लूटता, फिर दूसरे शहर में भाग जाता

  1. डीसीपी (पूर्व) डॉ. राहुल जैन ने बताया कि पिछले 2 वर्षों से लगातार आरोपी रामचंद्र यूपी से धौला कुंआ, नई दिल्ली आता था। वहां से वह अपने गैंग के साथी तुलसी के साथ बस में बैठकर जयपुर में नारायण सिंह सर्किल बस स्टैंड उतरता था। यहां वह अपने साथी तुलसी के सास-ससुर के किराए के मकान पर ठहरता था। तुलसी के सास-ससुर पकडे़ जाने के डर से अपना मकान बदलते रहते थे। 

  2. आरोपी रामचंद्र गैंग के साथी तुलसी के साले चन्द्र व उसके मौसेरे भाई संदीप की प्लसरमोटरसाईकिलों से जयपुर शहर में महिलाओं से कॉलोनियों में पता पूछने के बहाने ध्यान बंटाकर चैन स्नेचिंग की तीन-चार वारदातें करते थे। इसके बाद तुलसी व रामचंद्र वापिस उत्तरप्रदेश में अपने गांव बस से भाग जाते थे। करीब 8-10 दिन बाद वापिस जयपुर आकर इसी तरह से वारदात करते।

  3. इस तरह दो साल में रामचंद्र व उसकी गैंग ने डेढ़ सौ वारदातें करना बताया है। लूटी गई चेनों को अपने गांव में सुनार को बेच देते है तथा प्राप्त रुपयों से मौजमस्ती करते है और परिवार का पेट पालते है। डीसीपी राहुल जैन ने बताया कि अभियुक्त रामचन्द्र वर्ष 2005 से अपराध की दुनिया में है। वह कई बार जेल जा चुका है। जमानत मिलते ही फिर चेन स्नेचिंग शुरु कर देता है। 

  4. रामचंद्र के विरुद्ध अब तक उत्तरी दिल्ली, फरीदाबाद, हरियाणा, भरतपुर राजस्थान, व कांडला शामली, उत्तरप्रदेश में कुल 15 मुकदमे दर्ज है। जिनमें वह गिरफ्तार हो चुका है। रामचंद्र ठगी की वारदातें भी करता है। पूछताछ में उसने जयपुर, लुधियाना, जगधरी, यमुनानगर, अम्बाला, करनाल, पानीपत, फरीदाबाद, तीमारपुर, दिल्ली, भरतपुर, चेन्नई, हैदराबाद, बैंगलोर, शामली उत्तरप्रदेश में चैन स्नेचिंग की वारदातें करना स्वीकार किया है।

    खबर व फोटो: भगवान चौधरी

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना