राजस्थान / पहचान छिपाकर चीफ जस्टिस ने लिया कोर्टों का जायजा, कोर्टरूम में बैंच पर बैठे, देखी कार्यवाही

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2019, 08:29 AM IST



चीफ जस्टिस एस रविंद्र भट्ट। चीफ जस्टिस एस रविंद्र भट्ट।
X
चीफ जस्टिस एस रविंद्र भट्ट।चीफ जस्टिस एस रविंद्र भट्ट।

  • एसपी परिस देशमुख ने कहा- उनके पास भी चीफ जस्टिस के दाैरे की काेई आधिकारिक सूचना नहीं थी
  • जिला जज मनोज कुमार व्यास ने चीफ जस्टिस को पहचान लिया और सम्मान देने के लिए कुर्सी से खड़े हुए

अलवर. चीफ जस्टिस एस रविंद्र भट्ट ने रजिस्ट्रार जनरल सतीश कुमार शर्मा व पीपीएस राजेंद्र टुटेजा के साथ मंगलवार को जिला मुख्यालय की अदालतों का सामान्य नागरिक बनकर आकस्मिक निरीक्षण किया। भट्ट ने इस दौरान पहचान जाहिर नहीं होने दी।

 

बिना सुरक्षाकर्मी के अदालतों में पहुंचे
चीफ जस्टिस अपनी गाड़ी कचहरी से बाहर खड़ी कर बिना सुरक्षाकर्मी के अदालतों में पहुंचे। उनका यह निरीक्षण इतना गोपनीय था कि इसकी किसी भी न्यायिक अधिकारी को भनक तक नहीं लगी। चीफ जस्टिस सुबह करीब 11 बजे रजिस्ट्रार जनरल के साथ आम नागरिकों की तरह जिला मुख्यालय पर अदालतों के बाहर घूमकर जायजा लेते रहे।  

 

जिला जज ने पहचाना तो कहा- अपना काम करते रहिए
उन्होंने एसीडी कोर्ट, एडीजे कोर्ट व मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत की कार्यवाही बेंच पर बैठकर देखी। उन्होंने किसी को अपना परिचय नहीं दिया। सफेद शर्ट व काली पेंट पहने चीफ जस्टिस करीब 11:15 बजे जिला एवं सेशन न्यायालय के कोर्ट रूम में आम आदमी की तरह जाकर बैठ गए। जैसे ही जिला जज मनोज कुमार व्यास की नजर उन पर पड़ी, तो वे उन्हें सम्मान देने के लिए खड़े हुए। चीफ जस्टिस ने कहा अपना काम करते रहिए।

 

अधिवक्ताओं के शिष्टमंडल से मुलाकात की
इस दौरान नवनिर्वाचित बार अध्यक्ष ठाकुर उदयसिंह के नेतृत्व में अधिवक्ताओं का शिष्टमंडल डीजे कोर्ट पहुंचा। उन्होंने मुख्य न्यायाधीश से मुलाकात कर वकीलों की समस्याएं बताई और जिला बार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का निमंत्रण दिया। चीफ जस्टिस ने बार अध्यक्ष ठाकुर उदय सिंह को समस्या के निदान के लिए आश्वस्त किया और उन्हें जयपुर आकर मिलने को कहा।

 

COMMENT