राजस्थान / गहलोत बोले- अंग्रेजी का माहौल बढ़ रहा है लेकिन हिन्दी माध्यम से शिक्षित प्रतिभाएं भी किसी से कम नहीं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लोगों को संबोधित करते हुए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लोगों को संबोधित करते हुए।
X
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लोगों को संबोधित करते हुए।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लोगों को संबोधित करते हुए।

  • गहलोत ने कहा कि हमारे प्रदेश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है लेकिन आवश्यकता है उन्हें तराशने की
  • शिक्षा राज्यमंत्री श्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि गांव-ढाणी तक संस्कारित और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 04:53 PM IST

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार को स्कूल के उद्घाटन समारोह में पहुंचे। यहां उन्होंने कहा कि सरकार का फर्ज है वह ऐसे फैसले ले जिससे आमजन को लाभ मिले। इसी सोच के साथ हमारी सरकार ने गरीब और पिछड़े तबके के बच्चों को क्वालिटी एजुकेशन देने के लिए कदम उठाए हैं। हमारा प्रयास है कि प्रदेश का हर बच्चा शिक्षा से जुड़े और आगे बढ़े।

गहलोत ने कहा कि हमारे प्रदेश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। लेकिन आवश्यकता है उन्हें तराशने की। राज्य सरकार इस दिशा में लगातार कदम उठा रही है। उन्होंने मातृभाषा हिन्दी के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि वर्तमान में अंग्रेजी का माहौल बढ़ रहा है लेकिन हिन्दी माध्यम से शिक्षित प्रतिभाएं भी किसी से कम नहीं हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 70 साल में देश ने विकास का बड़ा सफर तय किया है। सत्तर साल पहले जिस देश में लोग बिजली के बारे में नहीं जानते थे वह देश आज विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में दुनिया के अग्रणी देश में खड़ा है। उन्होंने कहा कि विकास की संभावनाएं कभी खत्म नहीं होती लेकिन हमारे महान नेताओं के विजन से हुए विकास को नकारना उचित नहीं है। उन्होंने विद्यालय परिसर में पौधारोपण भी किया।

शिक्षा राज्यमंत्री श्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि गांव-ढाणी तक संस्कारित और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता है। आधुनिक शिक्षा के लिए निजी क्षेत्र की चुनौती को स्वीकार करते हुए उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूल उनके मुकाबले में पीछे नहीं रहेंगे। हमारी सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि सरकारी स्कूल स्मार्ट स्कूल के रूप में विकसित हों। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना