जयपुर / सीएम गहलोत का नेता प्रतिपक्ष राठौड़ पर हमला: आप तो बजरी चैंपियन हैं, बताएं- हर माह 5 करोड़ रुपए कहां जा रहे थे

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत- फाइल फोटो। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत- फाइल फोटो।
X
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत- फाइल फोटो।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत- फाइल फोटो।

  • बजट पर भाजपा नेता गुलाबचंद्र कटारिया ने सरकार पर गंभीर सवाल उठाए
  • इस पर मुख्यमंत्री गहलोत ने राठौड़, कटारिया और मोदी पर पलटवार किया

दैनिक भास्कर

Feb 28, 2020, 09:21 AM IST

जयपुर. बजट पर रिप्लाई में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, कटारिया, मोदी, गोलवलकर सहित भाजपा नेताओं पर और पार्टी पर हमला बोला। उन्होंने सीधे सवाल किया.. राठौड़ साहब आप तो बजरी मामले में चैंपियन हैं। मैं राठौड़ साहब से पूछना चाहता हूं कि आप  तो अपनी सरकार में सीएम के करीबी थे। यह बजरी बंद कैसे हुई? यह जंजाल पैदा क्यों हुआ? मैं स्वीकार करता हूं कि पिछले एक साल में सबसे दुखी किसी बात से हूं तो बजरी को लेकर हूं। जनता लुट रही है। 25 हजार का बजरी का ट्रक 60 हजार में मिल रहा है। सुप्रीम कोर्ट में केस चल रहा है। लंबी कहानी है। 5 करोड़ रुपए बजरी माफिया प्रति माह किसे दे रहे थे? यह असली जांच का विषय है। सीएम ने फिर चुटकी ली और कहा- प्रति वर्ष नहीं... प्रति माह पांच करोड़ कहां जा रहे थे? यह बताएं मुझे आप? 

मोदी-शाह निशाने पर
देश में गृह युद्ध कैसे शुरू हुआ। दिल्ली में आग लगी हुई है। पहले यूपी में 15 मरे, अब दिल्ली में हमारे एक जवान सहित 28 लोग मर गए। चुनाव में किस प्रकार के नारे लगे थे.. कि गोली मारो गद्दारोंको, करंट जाएगा शाहीन बाग तक..? हमारे शांति मार्च की आलोचना करते हो। पहली बार जब कोई राष्ट्राध्यक्ष आया और 20 किलोमीटर पर गोलीबारी हो रही थी। उन्होंने आरक्षण चालू रखने या बंद करने के मामले में आरएसएस के गुरु गोलवलकर पर भी हमला किया। बीजेपी पार्टी को नौटंकी बताते हुए कहा- ये कैसी सोच हैं? ऐसी पहली पार्टी है जिसके हीरो गोडसे भी है और गांधी भी है। जिसने गोली मारी और जिसने गोली खाई.. दोनों ही एक पार्टी के आदर्श कैसे हो सकते हैं, मैं पूछना चाहता हूं।

आंकड़े हमने दिए, कटारियाजी आप बार-बार इस्तीफे की धमकी क्यों देते हैं?
सीएम ने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के लिए ऐसी बात कही कि सब हंस पड़े। सीएम ने कहा कटारिया जी आप बार बार कहते हैं मैं सदन छोड़ दूंगा। चला जाऊंगा। कृपया करते यह मत करो आप। आप बार बार यह कहते हैं तो मुझे कभी कभी आशंका होती है कि कहीं हाईकमान से आपको इशारा तो नहीं है। अन्यथा कोई नेता प्रतिपक्ष ऐसी धमकी क्यों दें। ऐसा कोई गलत काम भी नहीं किया आपने, केवल उम्र 75 पार हुई है। आप तो खाली आंकड़े बता रहे हो... आंकड़े गलत कैसे हो सकते हैं? फिगर हमारी सरकार के हैं और इस्तीफा आप दे रहे हैं?इसका मतलब हमारे फिगर इतने विश्वसनीय है कि आपको इस्तीफा की नौबत आ रही।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना