राजस्थान / कोटा-झालावाड़ में बाढ़ से हालात खराब, मुख्यमंत्री ने प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे किया



CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas
CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas
CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas
CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas
X
CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas
CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas
CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas
CM Ashok gehlot takes aerial survey of flood-hit areas

  • मुख्यमंत्री गहलोत ने मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ से प्रभावित इलाकों को लेकर की बात
  • कोटा, झालावाड़, करौली और धौलपुर में सेना, सिविल डिफेंस व एनडीआरएफ राहत व बचाव कार्य में लगी हैं

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 04:03 PM IST

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को हेलिकॉप्टर से कोटा में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वे किया। गहलोत ने कहा कि इस बार प्रदेश में 40 प्रतिशत अधिक वर्षा हुई है। हम हालात पर नजर रखे हुए हैं। मेरी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से बात हुई है। प्रभावित इलाकों में पूरी मदद पहुंचाई जा रही है।

 

गहलोत ने आशा व्यक्त की है कि दोनों राज्यों के बीच समन्वय बना रहेगा एवं प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य में कोई कमी नहीं रहेगी। दोनों राज्यों में उच्च अधिकारियों के स्तर पर बातचीत हो रही है। कोटा, झालावाड़ में हालात विकट हैं तथा यहां सेना, सिविल डिफेंस, एसडीआरएफ व एनडीआरएफ की टीमें राहत व बचाव कार्य में लगी हैं। वहीं करौली व धौलपुर में भी हालात खराब हैं।

 

इस बीच कोटा बैराज से लगातार पानी की निकासी जारी। सोमवार को 19 गेट खोल कर 7 लाख 9 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इससे चंबल से सटी दर्जनों बस्तियां जलमग्न हैं। उधर, करौली में मंडरायल-करणपुर क्षेत्र में चंबल नदी उफान में है। यहां करीब एक दर्जन गांव पानी में घिरे हैं। 6 गांवों के ग्रामीणों को रेस्क्यू किया गया।

 

झालावाड़ : यहां बाढ़ प्रभावित इलाकों में सभी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गईं हैं। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के अधिकारियों को अपने एचओडी, कलेक्टर और उच्च अधिकारियों को उपस्थिति देने के निर्देश दिए गए हैं। यहां भी हालात खराब हैं।
 

स्पीकर बिरला ने भी किया दौरा 
 

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला सोमवार को हाड़ौती दौरे पर पहुंचे। कोटा पहुंचते ही लोकसभा अध्यक्ष सीधे बाढ़ प्रभावित इलाकों में पहुंचे और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बिरला ने चंबल तट पर बसी कॉलोनियों में जाकर हालातों को देखा. खेड़ली फाटक, गांवड़ी, नंदाजी की बाड़ी और नेहरू कॉलोनी सहित नयापुरा इलाके में जाकर बाढ़ प्रभावित लोगों से मुलाकात की और उनके हालचाल जाने। 
 

 

धौलपुर : धौलपुर में चंबल का पुल डूब गया है जिससे आवागमन बंद हो गया। पानी पुल से करीब चार पांच फीट ऊपर बह रहा है। राजाखेड़ा क्षेत्र की बसई घियाराम ग्राम पंचायत के आधा दर्जन गांवों के 50 से अधिक मकानों को खाली कराया गया है। गांवों का एक-दूसरे से संपर्क तक कट गया है।

 

सहानपुर गांव से निकलकर लोग टेंटों में पहुंच गए हैं। बाढ़ से चम्बल स्थित मुक्तिधाम पूरी तरह से जलमग्न हो गया। चंबल किनारे स्थित अंत्येष्टि स्थल पर 5 फुट से अधिक पानी आ चुका है और लगातार पानी की आवक बढ़ रही है। मुक्तिधाम समिति ने अंत्येष्टि स्थल पर अंतिम संस्कारो की व्यवस्था कराई है। साथ ही, चम्बल में मगरमच्छों को देखते हुए आमजन की सुरक्षा की दृष्टि से बेरिकेटिंग कराई है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना