--Advertisement--

कलेक्टर के कमरे में सरगना खुद बनवाते थे फर्जी हथियार लाइसेंस

फर्जी हथियार लाइसेंस बनाने में एटीएस की जांच में रोज नए खुलासे हो रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 02:32 AM IST
एटीएस ने ज्योति रंजन को कोर्ट एटीएस ने ज्योति रंजन को कोर्ट

जयपुर. जम्मू कश्मीर से अफसरों से मिलीभगत करके फर्जी हथियार लाइसेंस बनाने में एटीएस की जांच में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। जम्मू कलेक्टर ऑफिस में बिना नियम फर्जी हथियार लाइसेंस बने रहे थे। सरगना राहुल ग्रोवर पहले आईएएस के भाई कुमार ज्योति रंजन के खाते में पैसे जमा कराने के बाद खुद कलेक्टर कक्ष में जाता था और लाइसेंस बनाकर बाहर निकलता था।

- एटीएस ने ज्योति रंजन को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। एटीएस ने ज्योति रंजन को तीन दिन पहले गिरफ्तार किया था। आरोपी ज्योति कुमार रंजन ने लाइसेंस बनाने के लिए राहुल ग्रोवर से खाते में 39 लाख रुपए डलवाए थे।

- एटीएस की 14 टीमों ने अक्टूबर 2017 में राजस्थान व जम्मू कश्मीर समेत चार राज्यों में दबिश देकर फर्जी लाइसेंस बनाने वाले गिरोह का खुलासा किया था। 9 प्रोपर्टी व्यवसाय व ठेकेदारों को बीएसएफ के जवानों के नाम से फर्जी हथियार लाइसेंस बनाने और 30 प्रोपर्टी व्यवसाय, होटल संचालक व हार्डकोर बदमाशों को फर्जी दस्तावेज बनाकर लाइसेंस बनाने में गिरफ्तार कर चुकी है।

X
एटीएस ने ज्योति रंजन को कोर्ट एटीएस ने ज्योति रंजन को कोर्ट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..