जयपुर / ऑपरेशन क्लीन स्वीप के तहत कमिश्नरेट पुलिस की कार्रवाई, मादक पदार्थों की तस्करी करते आठ गिरफ्तार

शिवदासपुरा पुलिस थाने में गिरफ्तार महिला सहित तीनों आरोपी शिवदासपुरा पुलिस थाने में गिरफ्तार महिला सहित तीनों आरोपी
जिला स्पेशल टीम की गिरफ्त में आए दोनों आरोपी जिला स्पेशल टीम की गिरफ्त में आए दोनों आरोपी
X
शिवदासपुरा पुलिस थाने में गिरफ्तार महिला सहित तीनों आरोपीशिवदासपुरा पुलिस थाने में गिरफ्तार महिला सहित तीनों आरोपी
जिला स्पेशल टीम की गिरफ्त में आए दोनों आरोपीजिला स्पेशल टीम की गिरफ्त में आए दोनों आरोपी

  • शहर के सदर, शिवदासपुरा, प्रताप नगर इलाके में हुई कार्रवाई
  • बाहरी शहरों से जयपुर में लाकर बेची जा रहा था गांजा, स्मैक

दैनिक भास्कर

Feb 18, 2020, 07:37 PM IST

जयपुर. शहर पुलिस कमिश्नरेट में पुलिस ने ऑपरेशन क्लीप स्वीप के तहत मादक पदार्थों की तस्करी व अवैध खरीद फरोख्त करने वाले एक महिला व दो स्टूडेंट सहित आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई कमिश्नरेट की जिला स्पेशल टीम ने सदर थाना क्षेत्र में और इसके अलावा शिवदासपुरा व प्रताप नगर थाना पुलिस की टीमों द्वारा की गई। इसके कब्जे से गांजा व स्मैक बरामद किया गया।

एडिशनल पुलिस कमिश्नर अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि ऑपरेशन क्लीन स्वीप के तहत एडिशनल डीसीपी विमल सिंह, इंस्पेक्टर लखन खटाना व सुरेन्द्र यादव के नेतृत्व में गठित टीमों ने मंगलवार को रेलवे स्टेशन के पास ओडिशा से 5 किलो गांजा ला रहे नागौर के पादूकलां निवासी कुलदीप सिंह राठौड़, डिलेवरी लेने वाले नागौर के मारोठ स्थित माता सुखा निवासी दिग्विजय सिंह उर्फ डिग्गु बन्ना सहित इस गिरोह के सरगना रेनवाल निवासी बजरंग शर्मा को गिरफ्तार कर लिया।

तस्करी करते पकड़े गए दो छात्रों के खुलासे के बाद मुख्य सरगना पकड़ा गया
एडिशनल डीसीपी विमल सिंह नेहरा ने बताया कि सीएसटी टीम ने 12 फरवरी को सिन्धीकैंप इलाके से 8 किलो गांजे के साथ बी-टेक कर रहे दो छात्र अभिषेक दास व साम्बित पाणिग्राही को पकड़ा था। जिनसे पूछताछ में सामने आया कि ये गांजा ओडिशा में बजरंग ने दिलवाया था और जयपुर में मादक पदार्थ की डिलीवरी भी वे बजरंग ही ही लेना वाला था। लेकिन, बस स्टैण्ड पर दोनों छात्रों के पकड़े जाने की भनक लगते ही तस्करी का मुख्य सरगना बजरंग शर्मा फरार हो गया। जिसे पुलिस ने धरदबोचा।

नौकरी की तलाश में जयपुर आया था, पहले खुद ड्रग्स बेची, फिर स्टूडेंट्स को गैंग में शामिल किया

गैंग सरगना बजरंग कुछ साल पहले नौकरी की तलाश में जयपुर आया था। यहां रिकवरी का काम करने लगा। तब नशे का माल बेचने वाले लोगों से मुलाकात हुई। तब रुपयों के लालच में बजरंग ने भी ड्रग्स बेचना शुरु कर दिया। कुछ माह पहले ओडिशा में ही पकड़ा गया। जमानत पर बाहर आने के बाद वह मोटा कमीशन देकर स्टूडेंट्स से यह काम करवाने लगा।आरोपी बजरंग इन दिनों वीकेआई एरिया में लोडिंग टैम्पो चलाता है। ऐसे में वह वीकेआई, मुरलीपुरा व हरमाड़ा इलाके में छोटे तस्करों को सप्लाई करता है। बजरंग अपनी गैंग के लोगों को ओडिशा से नशे की तस्करी के लिए पूरा खर्चा और 5 हजार रुपए प्रति चक्कर देता है।

शिवदासपुरा और प्रताप नगर पुलिस की कार्रवाई, महिला समेत चार को पकड़ा

शहर के साउथ जिले में शिवदासपुरा थानाप्रभारी इन्द्राज मारोडिया के नेतृत्व में गठित टीम ने 10 ग्राम स्मैक के साथ आगरा निवासी दीपक चौधरी उर्फ छल्ला, करौली निवासी भगवान सहाय उर्फ पप्पू कोडिया, करौली के नादोती निवासी निक्की उर्फ नरेन्द्र मीणा व प्रताप नगर निवासी मधु नरूका को गिरफ्तार कर लिया। मारोडिया के मुताबिक 10 ग्राम स्मैक की बाजार कीमत करीब 5 लाख रुपए आंकी जा रही है। इसी तरह, पूर्व जिले में प्रताप नगर थाना पुलिस ने भी 10 ग्राम स्मैक के साथ सवाईमाधोपुर के वजीरपुर निवासी रूकम सिंह को तस्करी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।

फोटो व रिपोर्ट: उदय चौधरी

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना