बाड़मेर / नशीला पदार्थ पिलाकर कंपाउंडर ने बनाया अश्लील वीडियो, डॉक्टर सहित तीन आरोपी एक साल तक करते रहे दुष्कर्म



प्रतीकात्मक प्रतीकात्मक
X
प्रतीकात्मकप्रतीकात्मक

  • बाड़मेर जिले में चौहटन कस्बे के एक निजी अस्पताल में तैनात एएनएम ने दर्ज कराया मामला

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 05:36 AM IST

बाड़मेर/चाैहटन. बाड़मेर जिले में चौहटन कस्बे के एक निजी अस्पताल में रात के समय पर ड्यूटी पर तैनात एएनएम को नशीली दवा खिलाकर पहले उसका वीडियो बनाया और फिर वीडियो दिखा एक साल तक ब्लैकमेल कर कंपाउंडर, अस्पताल संचालक और उसका भाई एक साल तक दुष्कर्म करते रहे। चौहटन पुलिस थाने में एएनएम ने तीनों के खिलाफ नशीला पदार्थ खिलाकर उसे बेहोश कर उसका वीडियो बनाने, वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल कर उससे एक साल तक दुष्कर्म करने का मामला दर्ज हुआ है।

 

चौहटन थाना पुलिस ने निजी अस्पताल के संचालक सहित तीनों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। चौहटन के सुंदरनगर निवासी एक विवाहित एएनएम ने मामला दर्ज करवाया कि वह नवंबर, 2016 से प्राइवेट अस्पताल भाग्यश्री चौहटन में एएनएम के रूप में कार्यरत है। अस्पताल में उसकी रात के समय ड्यूटी रहती थी। अस्पताल में कार्यरत स्टाफ के विश्राम के लिए एक कमरा दिया हुआ था। करीब एक साल पूर्व जब रात के समय वह अस्पताल में ड्यूटी पर थी तब उसके साथ काम करने वाले स्टाफ अशोक परिहार पुत्र भोजाराम मेघवाल निवासी बिजराड़ रात के करीब 10 बजे दो गिलासों में ज्यूस लेकर उसके कमरे में आया। इसमें एक गिलास ज्यूस उसने पिया और दूसरा गिलास अशोक ने पी। ज्यूस में नशीला पदार्थ मिलाया हुआ था। इस कारण उसे नींद आ गई तो अशोक ने उससे दुष्कर्म किया और वीडियो बना लिया। सुबह जब उसे होश आया तो दुष्कर्म होने का पता चला। इस पर उसने अशोक से घटना को लेकर पूछा तो वो वीडियो दिखाकर उसे धमकाने लगा कि अगर किसी को बताया तो वीडियो वायरल कर बदनाम कर देगा। इसके बाद अशोक डरा-धमका कर उससे संबंध बनाता रहा। करीब पांच माह बाद अशोक अपने साथ हॉस्पिटल के डॉ. सुरेंद्र माहेश्वरी को लेकर आया। माहेश्वरी को उसके विश्राम कक्ष में छोड़ कर चला गया। माहेश्वरी ने कहा कि वीडियो मैंने भी देखा मैं पूरे स्टाफ को इस बारे में बता दूंगा। इस पर वह डर गई और  डॉ. सुरेंद्र माहेश्वरी ने भी उससे दुष्कर्म किया।

 

 कुछ दिन पहले सुरेंद्र माहेश्वरी का भाई प्रेम कुमार भी आया और उससे दुष्कर्म किया। इसके बाद तीनों उसे वीडियो वायरल करने की धमकी देकर सामूहिक दुष्कर्म करते रहे। दबाव और डर बनाए रखने के लिए आरोपियों ने कई बार उसे वीडियो और फोटो दिखाए। 12 अगस्त की रात को सुरेंद्र माहेश्वरी ने उसे नौकरी से निकालने की धमकी देते हुए दुष्कर्म किया। एएनएम ने लगातार हो रहे शारीरिक शोषण की बात परिवारजनों को बताने को कहा तो डॉ. सुरेंद्र नाराज हो गया। उसने नौकरी से निकालने की धमकी दी। 16 अगस्त को जब वह अस्पताल पहुंची तो उसे कहा कि अब उसकी अस्पताल को जरूरत नहीं है। पूरे घटनाक्रम की सूचना परिजनों को दी। इस पर चौहटन थाने को रिपोर्ट दी गई।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना