--Advertisement--

राजस्थान / भाजपा-कांग्रेस में टिकटों के लिए...अब दिल्ली में दरबार



Congress and bjp election ticket selection
X
Congress and bjp election ticket selection

  • कांग्रेस और भाजपा की तीन दिन अहम बैठकें
  • केंद्रीय चुनाव समिति की आज और कल बैठक

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 09:19 AM IST

जयपुर. भाजपा ने गुरुवार को मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए प्रत्याशियों की चौथी और अंतिम सूची भी जारी कर दी। अब राजस्थान की बारी है। राजस्थान के प्रत्याशियों की सूची फाइनल करने के लिए दिल्ली में 10 और 11 नवंबर को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक रखी गई है। सोमवार से प्रदेश में नामांकन दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी जो 19 नवंबर तक चलेगी। सूत्रों के मुताबिक भाजपा अपनी पहली सूची सोमवार तक जारी कर करीब 130 से 150 प्रत्याशियों के नाम फाइनल कर सकती है।

पहले जावड़ेकर करेंगे पैनल की स्क्रूटनी

  1. प्रदेश कोर कमेटी 200 विधानसभा सीटों के पैनल लेकर शनिवार को दिल्ली पहुंचेगी। इसमें मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री वी सतीश, प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी, कैबिनेट मंत्री गुलाब चंद कटारिया, राजेंद्र राठौड़ और प्रदेश महामंत्री चंद्रशेखर भी शामिल होंगे। पैनल पर सबसे पहले चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर से चर्चा होगी। जावड़ेकर ने कोर कमेटी के सदस्यों को डेढ़ बजे अपने घर भोजन पर आमंत्रित किया है। यहां स्क्रूटनी के बाद जावड़ेकर इसे पार्टी के राष्ट्रीय अमित शाह के पास लेकर जाएंगे। अमित शाह अपने सर्वे से इसका मिलान कर पैनल को केंद्रीय चुनाव समिति में लेकर जाएंगे।

  2. एमपी में चला वंशवाद, प्रदेश में कई कतार में

    एमपी में भाजपा की सूची में वंशवाद खूब चला है। इसमें 41 नेताओं के बेटे-बेटियों और रिश्तेदारों को टिकट दिया गया है। प्रदेश में भी वंशवाद को लेकर अटकलों का दौर तेज हो गया है। प्रदेश में एंटीइनकमबेंसी ज्यादा है और मौजूदा विधायकों के टिकटों पर संकट है लेकिन बगावत को थामने के लिए कद्दावर नेताओं के परिवारों को टिकट देने का चलन काफी पुराना है। जनजाति मंत्री नंदलाल मीणा बेटे हेमंत के लिए टिकट मांग रहे हैं। राजस्व मंत्री अमराराम के बेटे अरुण भी बाड़मेर में सक्रिय नजर आ रहे हैं। केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल अपने बेटे के लिए टिकट मांग रहे हैं। श्रम मंत्री जसवंत यादव तो पहले ही अपनी सीट से अपने बेटे को चुनाव जितवाने की अपील कर चुके हैं। नरपत सिंह राजवी बेटे के लिए, किशनाराम नाई पोते के लिए, गुरजंट सिंह भी पोते के लिए, सुंदरलाल काटा बेटे के लिए, देवी सिंह भाटी अपनी पुत्रवधु के लिए टिकट मांग रहे हैं।

  3. कांग्रेस : स्क्रीनिंग कमेटी की आज मीटिंग, 110 सीटों पर चर्चा होगी, 12 को राहुल लेंगे चुनाव समिति की बैठक

    चार और पांच नवंबर को स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक स्थगित होने के बाद अब शनिवार को दिल्ली में होने जा रही है। इससे पहले शुक्रवार को कमेटी की चेयरमैन कुमारी शैलजा ने एक-एक सीटों पर प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी और चारों सह प्रभारियों से विस्तार से चर्चा की, जिससे स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग में ज्यादा समय न लग सके। उसके बाद सोमवार 12 नवंबर को राहुल गांधी की अध्यक्षता में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी, जिसमें स्क्रीनिंग कमेटी की ओर से भेजे गए नामों पर फाइनल बात होगी।

  4. कांग्रेस वॉर रूम में मैराथन बैठक

    कांग्रेस में चार, पांच नवंबर को स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग होने वाली थी, लेकिन होमवर्क पूरा न होने के कारण पार्टी को स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक स्थगित करनी पड़ी थी। अनौपचारिकता तौर पर कांग्रेस के दिग्गज टिकटों को लेकर आपस में विचार विमर्श करते रहे। इसी कड़ी में शुक्रवार को भी कांग्रेस के 15 जीआरजी वाररुम में मैराथन मीटिंग चली। इसमें प्रदेश के चारों सह प्रभारियों से अलग-अलग चर्चा की गई। उनकी ओर से किस तरह से किस सीट पर ग्राउंड रिपोर्ट तैयार की गई है। किस सीट का किस तरह का जातीय समीकरण है। किसे प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतारा जाए तो बाजी हाथ आ जाएगी। इस मीटिंग में प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व सीएम अशोक गहलोत नहीं रहे।

  5. सोमवार को आ सकती है कांग्रेस की पहली सूची

    हालांकि सोमवार को होने वाली बैठक में पायलट और गहलोत दोनों ही नेता शामिल होंगे। पहली स्क्रीनिंग कमेटी में 90 सीटों पर चर्चा हुई थी। ऐसे में दूसरी मीटिंग में बचे हुए सभी 110 सीटों को फाइनल कर दिया जाएगा। यदि केंद्रीय चुनाव समिति की ओर से कोई आपत्ति की गई तो बाद में कुछ सीटों पर फिर से चर्चा करके फाइनल किया जा सके। संभावना जताई जा रही है कि केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद कांग्रेस की ओर से पहली लिस्ट जारी कर दी जाएगी, जिससे 12 नवंबर से शुरू हो रहे नामांकन में प्रत्याशी अपना नामांकन करा सके। जबकि दूसरी और तीसरी लिस्ट 15 से 19 के बीच में जारी की जाएगी। गौरतलब है कि कांग्रेस में लगातार विरोध-प्रदर्शनों के दौर चल रहे हैं। इसके चलते पार्टी प्रत्याशियों के चयन को लेकर ज्यादा सतर्कता बरत रही है। ताकि गलत चयन से बगावत का खतरा ना हो। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..