कांग्रेस / राहुल के सर्वे के आधार पर ही प्रत्याशियों को मिलेगा टिकट

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 05:59 AM IST



Congress candidates get tickets on basis of Rahul's survey
X
Congress candidates get tickets on basis of Rahul's survey

  • अच्छे प्रदर्शन वाले दावेदारों की लगेगी लॉटरी, गुटबाजी पर भी लगाम

जयपुर.  कांग्रेस का टिकट लेने के लिए दावेदार जयपुर से लेकर दिल्ली तक और कांग्रेस मुख्यालय से लेकर नेताओं के घरों तक चक्कर काट रहे हैं, लेकिन चक्कर काटने से किसी को टिकट नहीं मिलने जा रहा है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से कराए गए सर्वे के आधार पर ही प्रत्याशियों को टिकट मिलेगा। सर्वे में जिस दावेदार का प्रदर्शन अच्छा होगा, उसका ही टिकट फाइनल होगा। 


कांग्रेस ने 200 विधानसभा सीटों को चार जोन में बांट दिया है। हर जोन के लिए एक सचिव लगा दिया है। उन सचिवों से प्रत्याशियों के बारे में राहुल गांधी सीधे फीडबैक ले रहे हैं। उधर प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट और प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे के स्तर पर अलग से इंटरनल सर्वे कराया गया है। उस सर्वे रिपोर्ट को भी राहुल गांधी को ही सौंप दिया गया है। जबकि राहुल गांधी की ओर से दो सर्वे कराया गया है। राहुल गांधी के सर्वे, प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश प्रभारी के सर्वे और प्रभारी सचिवों की रिपोर्ट का आपस में मिलान किया जाएगा, जिसके आधार पर पहली और दूसरी सूची जारी की जाएगी।

 

जिन सीटों को लेकर विवाद होगा। उस सीटों पर पार्टी नेताओं के स्तर पर अापस में चर्चा होगी। चर्चा के बाद ही किसी एक नाम को फाइनल किया जाएगा। माना जा रहा है कि कांग्रेस के इस कदम से प्रदेश में पार्टी के भीतर होने वाली गुटबाजी पर भी इससे लगाम लगेगा। इससे किसी को यह कहने का मौका ही नहीं मिलेगा की पार्टी की ओर से इस गुट या उस गुट से तालुकात रखने वाले को टिकट दे दिया गया। यहीं कारण है कि स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरमैन कुमारी शैलजा बार-बार कह रही है कि केवल चुनाव जीतने वालों को ही टिकट दिया जाएगा। 
 

इसलिए एक लाइन का पास किया था प्रस्ताव : जयपुर में आठ अक्टूबर को प्रदेश इलेक्शन कमेटी की बैठक हुई थी, जिसमें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट की ओर से एक लाइन का प्रस्ताव रखा गया था कि टिकट वितरण का फैसला राहुल गांधी पर छोड़ दिया जाए। शुक्रवार को स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरमैन कुमारी शैलजा ने स्पष्ट किया था कि ऐसे चक्कर काटने से किसी को टिकट नहीं मिलता। जितने भी दावेदार है, सभी से मैं व्यक्तिगत तौर पर मिल चुकी हैं।   

 

कांग्रेस दशहरे के बाद घोषित कर देगी प्रत्याशी : कांग्रेस दशहरा के बाद 90 से 100 प्रत्याशियों की सूची जारी कर सकती है, जिससे प्रत्याशियों को चुनाव की तैयारी करने का पूरा मौका मिल सके। इनमें से ज्यादातर वे सीटें हैं, जिस पर किसी प्रकार का विवाद नहीं है। इसको लेकर दिल्ली में  युद्ध स्तर पर काम चल रहा है।  

 

 

COMMENT