अलवर / गैंगरेप पीड़िता से मिलने कल थानागाजी आएंगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सीएम गहलोत भी रहेंगे साथ



Congress president Rahul Gandhi will visit Thanagaji alwar tomorrow to meet gangrap victim
थानागाजी में हेलीपेड बनाने का काम शुुरु थानागाजी में हेलीपेड बनाने का काम शुुरु
X
Congress president Rahul Gandhi will visit Thanagaji alwar tomorrow to meet gangrap victim
थानागाजी में हेलीपेड बनाने का काम शुुरुथानागाजी में हेलीपेड बनाने का काम शुुरु

  • हेलीपेड बनाने के लिए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने तैयारियां शुरु की

Dainik Bhaskar

May 14, 2019, 04:47 PM IST

जयपुर. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का अलवर दौरा स्थगित हो गया है।राहुल बुधवार को अलवर गैग रेप पीड़िता से मिलने आने वाले थे। दिल्ली में मौसम खराब होने के कारण राहुल के हेलिकॉप्टर को उड़ान भरने की इजाजत नहीं दी गई।

 

अलवर जिले के थानागाजी में पति को बंधक बनाकर विवाहिता से गैंगरेप मामले में सियासत गरमाई हुई है। मामले में लगातार हो रही राजनीतिक बयानबाजी के बीच राहुल बुधवार को गैंगरेप पीड़िता से मुलाकात करने थानागाजी आने वाले थे।

 

राहुल के अलवर दौरे के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी उनके साथ रहने वाले थे। राहुल को बुधवार को हेलीकॉप्टर से थानागाजी पहुंचने का कार्यक्रम था । इसके लिए मंगलवार को पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में अस्थाई हेलीपैड का निर्माण किया गया।

 

वहीं,राहुल के अलवर दौरे को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने उन पर निशाना साधा है। जावड़ेकर ने कहा, 'मुझे पता चला कि राहुल गांधी दुष्कर्म पीड़िता से मिलने अलवर आने वाले हैं। मैं कहना चाहूंगा कि वे कोई स्पष्टीकरण नहीं दें, सीधा मुख्यमंत्री का इस्तीफा लें।' उन्होंने मतदान के चलते कांग्रेस सरकार पर दुष्कर्म की घटना को छिपाने का आरोप लगाया।

 

इससे पहले सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी रैलियों में अलवर कांड को लेकर कांग्रेस सरकार को घेर चुके हैं। पीएम ने बसपा सुप्रीमो मायावती से राजस्थान की कांग्रेस सरकार से समर्थन लेने की मांग भी की थी। वहीं, मायावती ने इस मामले में कहा था कि थानागाजी रेप प्रकरण पर बसपा नजर बनाए हुए है। उचित समय में फैसला लेंगे। 

 

rahul

 

थानागाजी दुष्कर्म प्रकरण

घटना 26 अप्रैल की है। थानागाजी के रहने वाले एक दंपति बाइक पर जा रहे थे। तभी पांच युवकों ने उनका पीछा करके उन्हें रोक लिया। इसके बाद वह उन्हें जबरन जंगल ले गए। वहां महिला के साथ पति के सामने सामुहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने इसका वीडियो भी बनाया। इस मामले में 2 मई को एफआईआर दर्ज हुई। बताया जाता है के पीड़ित थाने गए थे, लेकिन पुलिस ने चुनाव में व्यस्त होने की बात कहकर मुकदमा नहीं लिखा। बाद में घटना का वीडियो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना