कोरोना के मरीजों का फेक मैसेज वायरल करने वाला चिकित्सा संविदाकर्मी जयपुर से गिरफ्तार

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजकीय अस्पताल का दौरा करने पहुंची एसडीएम पिंकी मीना। - Dainik Bhaskar
राजकीय अस्पताल का दौरा करने पहुंची एसडीएम पिंकी मीना।
  • मैसेज सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के मोबाइल पर पहुंचा था, जिससे दहशत का माहौल बना
  • चिकित्सा विभाग ने मैसेज को फेक बताते हुए तुरंत एक लैटर जारी कर इसका खंडन किया

दौसा. कोरोनावायरस के खौफ के बीच सोशल मीडिया पर फेक मैसेज फैलाने वाले युवक को सोमवार सुबह जयपुर से गिरफ्तार किया गया। यह युवक चिकित्सा विभाग का संविदा कर्मचारी था, जिसे रविवार को ही बर्खास्त कर दिया गया था।


रविवार सुबह बांदीकुई में कोरोनावायरस के आठ पॉजिटिव मरीज मिलने के फेक मैसेज के वायरल होने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। चिकित्सा विभाग ने तुरंत एक लेटर जारी कर इस मैसेज का खंडन किया। दिनभर इस मैसेज के वायरल होने से लोगों में भी खौफ की स्थिति बनी रही। एसडीएम ने भी अस्पताल पहुंचकर निरीक्षण किया।

प्रशासन के भी हाथ पैर फूले
मैसेज जैसे ही वाॅट्सऐप व फेसबुक के माध्यम से लोगों के मोबाइलों पर पहुंचा तो लोगों में दहशत का माहौल हो गया। प्रशासन के भी हाथ फैर फूल गए। चिकित्सा विभाग ने इस वायरल मैसेज को फेक बताते हुए तुरंत एक लैटर जारी कर इसका खंडन करते हुए बताया कि यह खबर पूर्णतया निराधार व भ्रामक है। विभाग के अधिकारियों ने इसे लेकर उच्च अधिकारियों को भी लैटर भेजा।

खबरें और भी हैं...