--Advertisement--

हादसे के बाद टेम्पो पहचान में ही नहीं आया, सुबह पड़ोसियों से बोले थे बच्चों की जल्दी शादी कर देंगे एक घंटे में आई मौत की खबर

अचानक सामने आई बाइक को बचाने के लिए बस ने टेंपो में मारी टक्कर दंपती की मौत, 13 घायल

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 07:27 AM IST
परखच्चे तक उड़ गए टैम्पो के। परखच्चे तक उड़ गए टैम्पो के।

श्रीगंगानगर. रोडवेज की बस सामने आ रहे टेंपो से टकरा गई। हादसे में टेंपो चालक और उसकी पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई तथा 13 लोग घायल हो गए। हादसा गुरुवार सुबह करीब सवा आठ बजे श्रीगंगानगर-पदमपुर रोड पर साहूवाला बस स्टैंड के पास हुआ। हादसे में बस का चालक और महिला परिचालक भी घायल हुए हैं। हादसे की सूचना के बाद मौके पर जुटी भीड़ ने ही घायलों को एंबुलेंस की मदद से जिला अस्पताल पहुंचाया। घायलों में सभी के चेहरों पर ही चोटें लगी हुई हैं। ये था मामला...


सदर थाना के एएसआई राजेंद्र बारहठ ने बताया कि टेंपो चालक भूपसिंह चक 7 ए छोटी स्थित एक निजी स्कूल में माली की नौकरी करता था। उसकी पत्नी भी इसी स्कूल में सहायक कर्मचारी थी। दोनों चूनावढ़ कोठी से स्कूल में नौकरी जा रहे थे। साहूवाला गांव के बस स्टैंड पर जैसे ही वे पहुंचे। रोडवेज की बस श्रीगंगानगर से पदमपुर की ओर जा रही थी। अचानक साहूवाला रोड की ओर से एक मोटरसाइकिल चालक सड़क पर आ गया। मोटरसाइकिल सवार को बचाने के लिए रोडवेज के चालक ने बस को दूसरी दिशा में उतार दिया। उसी समय सामने से टेंपो आ गया। इस कारण बस टेंपो को कुचलते हुए सड़क के किनारे खड़े सफेदे के पेड़ में टकराकर रुक गई।

टक्कर इतनी जोरदार थी कि टेंपो के परखच्चे उड़ गए। हादसे में टेंपो चालक मूलत: उत्तरप्रदेश के मैनपुरी जिले व हाल 23 जीजी चूनावढ़ कोठी निवासी भूपसिंह पुत्र तोड़ीसिंह और उसकी पत्नी 35 वर्षीय निक्कोदेवी की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की सूचना पर एसपी हरेंद्र महावर, एएसपी सुरेंद्रसिंह राठौड़, सीओ सिटी तुलसीदास पुरोहित घटनास्थल पहुंचे। पुलिस ने बस चालक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है।

सुबह ही पड़ोसियों से बोले थे बच्चों की जल्दी शादी कर देंगे एक घंटे में आई मौत की खबर

हमेशा की तरह गांव 23 जीजी नई कॉलोनी निवासी भूरेलाल (40) अपनी पत्नी निक्को के साथ टेंपो से गांव 7 ए में एक कॉलेज में मजदूरी के लिए ड्यूटी पर जा रहे थे। टेंपो में उनके साथ एक अन्य महिला व पुरुष भी सवार थे। रास्ते में तेज रफ्तार आ रही रोडवेज बस चालक ने एक बाइक को बचाने के चक्कर में सामने से आ रहे टेंपो में टक्कर मार दी। इस हादसे में टेंपो चालक भूरेलाल व उसकी पत्नी निक्को की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। मृतक दंपती के पड़ोसी प्रभुसिंह ने बताया कि मृतक भूरेलाल गुरुवार सुबह ही उससे मिला था तब बातों में उसने कहा था कि अब दो माह में बेटे और बेटी की शादी करनी है। कोई अच्छा घर तलाश रहा हूं। भूरेलाल ने कहा था कि सभी बच्चों की शादी करके वह इस बड़े कर्त्तव्य से मुक्त होना चाहता है। मगर भगवान को कुछ और ही मंजूर था।

लोगों ने पेड़ हटा घायलों को बस से बाहर निकाला, फिर अस्पताल भी पहुंचाया

लाेगों ने बताया कि हादसे के बाद लोगों ने ही घायलों को बस से बाहर निकालकर एंबुलेंस की मदद से जिला अस्पताल पहुंचाया। हादसे के बाद लोग पुलिस नियंत्रण कक्ष के 100 नंबर पर फोन करते रहे। करीब पौने घंटे बाद मौके पर पुलिस पहुंची। तब तक सभी घायलों को अस्पताल पहुंचा दिया गया था। लोगों ने ही पेड़ में फंसी बस को धकेलकर बाहर निकाला।

लोगों ने पेड़ हटा घायलों को बस से बाहर निकाला, फिर अस्पताल भी पहुंचाया लोगों ने पेड़ हटा घायलों को बस से बाहर निकाला, फिर अस्पताल भी पहुंचाया

Related Stories