बीमारी का कहर / डेंगू के 10 हजार मरीज...लेकिन विभाग कह रहा 6 हजार ही हैं



डेंगू से पीड़ित बच्चा। डेंगू से पीड़ित बच्चा।
X
डेंगू से पीड़ित बच्चा।डेंगू से पीड़ित बच्चा।

  • बीमारी नहीं आंकड़े काबू करने में लगी सरकार

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2019, 02:32 AM IST

सुरेन्द्र स्वामी/ जयपुर. प्रदेश में एडीज एजिप्टाई मच्छर के काटने से फैल रहे डेंगू का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। अौर खौफ बरकरार है। लोगों की “मौत” बनकर सामने आ रहे डेंगू को रोकने में नाकाम  चिकित्सा विभाग बीमारी के आंकड़े छिपाकर नियंत्रण का दावा कर रहा है। प्रदेश में चिकित्सा विभाग 6 हजार पर ही अटका है। जबकि भास्कर ने विभिन्न जिलों से पॉजिटिव मरीजों के बारे में जो जानकारी जुटाई, उसके मुताबिक मरीज 10 हजार तक पहुंच चुके हैं। इनमें 450 केस राज्य के बाहर के शामिल हैं। डेंगू के बढ़ते प्रकोप के बाद भले ही चिकित्सा विभाग नियंत्रण के दावे कर रहा है, पर सच्चाई ये है कि शहर में ही चिकित्सा विभाग और नगर निगम का अापस में समन्वय नहीं है। डेंगू बेकाबू होने पर चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा मामले में काफी गंभीर हैं। अौर रोजाना मौसमी बीमाारियों के केसेज अौर मौत के अांकड़ों की जानकारी ले रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी निर्देश दिए हैं।

 

लिस्ट

 

जयपुर- डेंगू के 2500 मामलों के साथ प्रदेश में नंबर-1 पर है। यहां 8 लोगों की मौत भी हो चुकी है।
कोटा- 780 मामलों के साथ दूसरे और अलवर में 460 केस के साथ प्रदेश में तीसरे नंबर पर है।
देश- में डेंगू के मामले में पहले नंबर पर कर्नाटक है। जहां अब तक 11 हजार 600 मामलों में से 10 की मौत हो चुकी है।  


इन्हें नजरअंदाज न करें : अचानक बुखार, सिर में आगे की तरफ तेज दर्द, आंखों के पीछे व आंखों के हिलने में दर्द, मांसपेशियों जोड़ों में दर्द, स्वाद का पता न चलना और भूख नहीं लगना। 

 

ये जानना जरूरी :  डेंगू बुखार का असर 7 दिनों तक रहता है। किसी को फीवर होने पर पहले तीन दिन तक तेज बुखार होता है। बीमारी की गिरफ्त में अाने पर पहले 3 दिन ज्यादा खतरा हैं।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना