राजस्थान / डा. शर्मा बोले, विपरीत लाइफस्टाइल से बीमारियां पैर पसार रहीं

राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान जयपुर। राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान जयपुर।
X
राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान जयपुर।राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान जयपुर।

  • प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए 120 आयुर्वेद चिकित्सकों ने पंचकर्म-अग्निकर्म के गुर सीखें

दैनिक भास्कर

Dec 29, 2019, 02:06 PM IST

जयपुर। विश्व आयुर्वेद परिषद (चिकित्सा प्रकोष्ठ) राजस्थान की ओर से रविवार को जोरावर सिंह गेट स्थित राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान जयपुर में एक दिवसीय पंचकर्म, अग्निकर्म एवं आधुनिक तकनीक पर प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन हुआ। इसमें राज्य के विभिन्न जिलों से 120 आयुर्वेद चिकित्सक शामिल हुए।

चिकित्सकों ने पंचकर्म, अग्निकर्म एवं आधुनिक तकनीक का प्रायोगिक कार्य सीखा। इस प्रशिक्षण के बाद ये चिकित्सक अपने-अपने क्षेत्रों में मरीजों को फायदा दिला सकेंगे। मुख्य अतिथि राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान के निदेशक डॉ. संजीव शर्मा ने कार्यशाला का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में बदलती जीवनशैली और लाइफस्टाइल से युवा आहार व निद्रा से भटक रहे है। इससे उनके कार्यो पर भी असर दिखने लगा है।

विश्व आयुर्वेद परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. किशोरीलाल शर्मा ने बताया कि पहली बार इस तरह की कार्यशाला का आयोजन किया गया है। अब यह संभाग स्तर पर आयोजित की जाएगी। कार्यशाला में डॉ. सर्वेश सिंह, डॉ. मिलिंद, डॉ. नरेन्द्र सिंह डॉ. अभिषेक उपाध्याय ने पंचकर्म, अग्निकर्म, एक्सरे-ईसीजी जैसी तकनीक पर व्याख्यान दिया।

न्यूज : सुरेन्द्र स्वामी

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना