जयपुर / पार्क में बैडमिंटन कोर्ट के लिए खोदे गए गड्‌ढे में गिरा 11 साल का फैजान, मौत



Due to badminton court in the park, the 11 year old died in a pit, death
Due to badminton court in the park, the 11 year old died in a pit, death
X
Due to badminton court in the park, the 11 year old died in a pit, death
Due to badminton court in the park, the 11 year old died in a pit, death

  • निगम ने खोदा मौत का गड्‌ढा, क्यों न हत्या का केस हो...

Dainik Bhaskar

Jun 20, 2019, 06:08 AM IST

जयपुर. विद्याधर नगर के सेक्टर-7 के शिव पार्क में नगर निगम की ओर से खोदे गए गड्ढे में डूबने से 11 साल के फैजान की मौत हो गई। पार्क में बैडमिंटन कोर्ट के कोलम बनाने के लिए करीब 8 फीट गहरा गड्ढा खोद गया था। इसमें  प्री-मानसून की पहली बारिश के दौरान पानी भर गया। मौत की सूचना पार्क में घूमने आने वाले लोगों ने पुलिस को दी। फैजान विद्यानगर सेक्टर-8 में रहता था।

 

उधर, भाजपा पार्षद घटना के बावजूद मौके पर नहीं गए। बल्कि विरोध करने निगम के विद्याधर नगर जोन पहुंच गए। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया कि फैजान मंगलवार सुबह 10 बजे घर से निकला था। देर रात तक फैजान के परिजनों ने तलाश भी की। लेकिन नहीं मिला। फैजान के पिता शाेकत अली मजदूरी करते हैं।

 

पुलिस ने बताया कि सुबह 7 बजे के करीब सात सेक्टर में रहने वाले लाेग पार्क में घूमने अाए थे। तब अाठ फीट गहरे गड्ढे में बच्चे का मृत अवस्था में शव देखकर पुलिस काे सूचना दी। इसके बाद पुलिस माैके पर पहुंची। 

 

चाचा ने कहा, बारिश में नहाने गया फैजान... फिर नहीं लौटा

  • 10:30 बजे : मंगलवार सुबह फैजान बारिश में नहाने को चाचा मुबारक अली को कहकर गया था। 
  • 12 बजे : तक घर नहीं आया तो उसकी मां ने बड़े बेटे को फैजान को ढूंढकर लाने के लिए कहा। लेकिन फैजान कही नहीं मिला। 
  • शाम 6 बजे : उसे आस-पास के पार्क, गलियाें, बाजार सहित हर जगह तलाशा, पर वह नहीं मिला। 
  • रात 11 बजे : विद्याधर नगर थाने जाकर गुमशुदगी की रिपोर्ट दी गई। 
  • पौने 12 बजे : थाने से फिर फोन आया। उन्होंने गौतम गार्डन के पास जंगलेश्वर महादेव मंदिर आने को कहा। परिजन वहां गए तो गड्ढे में फैजान का शव पड़ा था। 
  • फैजान की जेब में 2 कैरी मिलीं। फैजान की एक चप्पल पास वाले गड्ढे में मिली। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर हमें सौंप दिया।

 

नाले में मौत की दूसरी घटना, एक सप्ताह बाद आयुष का शव ढूंढ पाया था प्रशासन...
पिछले साल बारिश के दौरान कार से नाले की पुलिया पार करते समय आयुष गर्ग करतारपुरा नाले में बह गया था। जिसे जिला प्रशासन की टीमें ढूंढती रही लेकिन वह नहीं मिल पाया। पूरे एक सप्ताह बाद जब फिर से तेज बारिश आई तो गुर्जर की थड़ी के पास नाला उफान के दौरान ही आयुष का शव बाहर आया। इसके बाद शहर में ऐसी ये दूसरी घटना है।

 

सबसे बड़ा सवाल? पार्क में बैडमिंटन कोर्ट बनाने की क्या जरूरत थी?

1. नगर निगम पार्कों में छोटे-मोटे विकास कार्य तो समय पर नहीं करवा पा रहा है। जबकि विद्याधर नगर के पार्क में बच्चों के लिए बैडमिंटन कोर्ट बनाया जा रहा है। 
2. बारिश शुरू होने के बावजूद कोर्ट का काम बंद नहीं किया गया। यही नहीं इस संबंध में विद्याधर नगर जोन के इंजीनियरों ने भी जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया। उनका कहना है कि निगम मुख्यालय से ही यह काम करवाया जा रहा है।
 

 

 

COMMENT