हादसा / कुंड में गिरे दो वर्षीय बेटे को बचाने के लिए पिता कूदा, दोनो



प्रतीकात्मक प्रतीकात्मक
X
प्रतीकात्मकप्रतीकात्मक

  • आठ बजे तक युवक के घर नहीं पहुंचने पर परिजन खेत में पहुंचे, तो घटना का पता चला
  • इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से दोनों के शव कुंड में बाहर निकलवाए

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 05:19 AM IST

सरदारशहर (चूरू). गांव भोलूसर एक 24 वर्षीय व्यक्ति की बुधवार सुबह खेत में काम करते समय कुंड में गिरे दो साल के बेटे को बचाने में दोनों की मौत हो गई। आठ बजे तक युवक के घर नहीं पहुंचने पर परिजन खेत में पहुंचे, तो घटना का पता चला। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से दोनों के शव कुंड में बाहर निकलवाए। पुलिस के अनुसार हजारीराम मेघवाल निवासी भोलूसर बुधवार सुबह करीब सात बजे अपने दो वर्षीय पुत्र दीपक को साथ लेकर खेत में गया था। बच्चे को कांटों से बचाने के लिए कुंड के पायतन पर बैठाकर खुद कड़बी काटने लगा। इस दौरान बच्चा खेलता-खेलता पानी से भरे कुंड में गिर गया। गिरने की आवाज सुनने पर हजारीराम भी बच्चे को बचाने के लिए कुंड में कूद गया, जिससे दोनों की मौत हो गई।

 

हजारीराम सरदारशहर में बेल्डिंग का काम करता है और अक्सर सुबह आठ बजे सरदारशहर चला जाता है। बुधवार सुबह वह घर से एक घंटे खेत में जाकर कड़बी काटकर आने का कहकर गया था। 

जाते समय अपने दो साल के बेटे को भी साथ में ले गया। बाद में युवक व उसके बेटे के शव पहुंचे, तो उसकी मां सायरदेवी व पत्नी 20 वर्षीय तारामणी बेसुध सी हो गई। पिता गणेशाराम भी स्तब्ध हो गया। हजारीराम के दो साल का बेटा इकलौता था। हालांकि उसकी पत्नी फिलहाल गर्भवती है। 

 

पिता-पुत्र घर नहीं आए तो परिजन खेत में गए, तब पता चला
बाप-बेट की मौत का पता दोपहर में चला। पिता पुत्र के घर नहीं आने पर परिजनों ने खेत पर जाकर देखा, वे वहां नहीं मिले। पिता-पुत्र के खेत में नहीं मिलने पर परिजन घर आए और युवक के माता-पिता को इसकी जानकारी दी। इसके बाद सभी लोग खेत में उनको तलाशने लग गए। इसके बाद खेत में बने कुंड के पास देखा, तो बाहर हजारीराम की चप्पल पड़ी थी। कुंड के अंदर देखा तो दो साल का बच्चा पानी में मृत अवस्था में तैरता हुआ नजर आया। परिजनों ने इस बारे में पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दोनों के शव कुंड से बाहर निकलवाए और राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाए। परिजनों के आने के बाद दोनों का पोस्टमार्टम करवाकर शव उनको सौंप दिए। घटना को लेकर थाने में मर्ग रिपोर्ट दर्ज हुई।

 

तालाब में डूबने से दो चचेरे भाइयों की मौत

छाणी-बरबोदनिया में तालाब में डूबने से दो चचेरे भाईयों की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार गोविंद (15) और उसका चचेरा भाई आशीष (14) पशु चराने गए थे। इस दौरान वे नहाने तालाब में उतरे और गहराई में जाने से डूब गए। कुछ देर बाद ग्रामीणों ने तालाब में शव तैरते देख परिजनों को सूचना दी। परिजन  मौके पर पहुंचे। दोनो चचेरे भाई बरबोदनिया स्कूल में नवीं कक्षा के छात्र थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना