राजस्थान / देश की पहली राजयोग थॉट लेबोरेट्री ने पूरे किए 3 साल

हजारों स्टूडेंट्स इस थॉट लैब से जुड़कर अपने विचारों को सकारात्मक दे पायें है हजारों स्टूडेंट्स इस थॉट लैब से जुड़कर अपने विचारों को सकारात्मक दे पायें है
First Raja Yoga Thought Laboratory completes 3 years in jaipur
First Raja Yoga Thought Laboratory completes 3 years in jaipur
X
हजारों स्टूडेंट्स इस थॉट लैब से जुड़कर अपने विचारों को सकारात्मक दे पायें हैहजारों स्टूडेंट्स इस थॉट लैब से जुड़कर अपने विचारों को सकारात्मक दे पायें है
First Raja Yoga Thought Laboratory completes 3 years in jaipur
First Raja Yoga Thought Laboratory completes 3 years in jaipur

  • जेइसीआरसी तथा ब्रह्माकुमारिज संस्थान के सहयोग से जयपुर के जेइसीआरसी कॉलेज में थॉट लैब पिछले तीन साल से कार्य कर रही है

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 04:32 PM IST

जयपुर. देश की पहली राजयोद थॉट लेबोरेट्री ने 3 साल पूरे कर लिए है। गत कुछ वर्षों से जयपुर शिक्षा के क्षेत्र में भी नए इनिशिएटिव ला रहा है, इन्ही में से एक है राजयोग थॉट लेबोरेट्री। भारत सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, जेइसीआरसी तथा ब्रह्माकुमारिज संस्थान के सहयोग से जयपुर के जेइसीआरसी कॉलेज में थॉट लैब पिछले तीन साल से कार्य कर रही है। 

इस थॉट लेब में एक मैडिटेशन रूम है जहाँ बैठकर ध्यान का अनुभव किया जा सकता है। ऑडियो-विडियो क्लासरूम और स्पिरिचुअल लाइब्रेरी थॉट लैब के मुख्य कॉम्पोनेन्ट हैं। यहाँ पर मैडिटेशन करने से पहले और बाद मे हुए परिवर्तन का वैज्ञानिक रूप से परिक्षण भी किया जाता है। अब तक 35 देशों के प्रतिनिधि इस थॉट लैब का अवलोकन कर चुके हैं। हजारों स्टूडेंट्स इस थॉट लैब से जुड़कर अपने विचारों को सकारात्मक दे पायें हैं। 
 

जेइसीआरसी  थॉट लैब टीम ने ब्रह्माकुमारीज़ ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा आयोजित ग्लोबल समिट कम एक्सपो में भी भाग लिया था। इस समिट में भारत सहित विश्व के हर कोने से दिद्दाज हस्तियों सहित  लगभग 10000 लोगों ने भाग लिया। इस समारोह में माननीय उप राष्ट्रपति महोदय भी आए। इस एक्सपो में थॉट लैब टीम ने टेक्नो-स्पिरिचुअल प्रोजेक्ट्स को प्रदर्शित किया। केंद्र मंत्री रविशंकर प्रसाद, राज्य मंत्री प्रताप चाँद सारंगी सहित कोलोंबो, अमेरिका , स्पेन, थाईलैंड के प्रतिनिधियों ने थॉट लैब प्रदर्शनी का अवलोकन करके इसे शिक्षा के क्षेत्र में एक नयी पहल बताया।

इसरो के तत्कालीन चेयरमैन प्रोफ ए. एस. किरण कुमार ने थॉट लैब की सराहना करते हुए कहा की, यह स्टूडेंट्स को जीवन के एक बहुत ही आवश्यक पहलु से अवगत कराने की एक नवीनतम पहल है। डॉ. सुभाष गर्ग, मिनिस्टर, टेकिन्कल एजुकेशन, राजस्थान भी इस लैब से अत्यधिक प्रभावित हुए एवं उन्होंने इसे राज्य के हर एजुकेशन इंस्टिट्यूट में शुरू करने का आश्वासन दिया। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना