पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jaipur News Free Full Education Of Girls Farmers39 Debt Waivers Unemployed Every Month Rs3500

लड़कियों की पूरी पढ़ाई फ्री, किसानों का कर्ज माफ, बेरोजगारों को हर माह ‌Rs.3500

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घोषणा पत्र जारी करने के बाद पायलट और गहलोत।

पॉलिटिकल रिपोर्टर | जयपुर

कांग्रेस ने गुरुवार को अपना चुनावी जनघोषणा पत्र जारी कर दिया। घोषणा पत्र में 418 चुनावी वादे किए गए हैं। सबसे बड़ा एलान बच्चियों की पढ़ाई से जुड़ा है। चुनावी घोषणा पत्र में कहा गया है कि बच्चियां जब तक पढ़ना चाहेंगी...प्रोफेशनल डिग्री कोर्स तक की उनकी पढ़ाई फ्री रहेगी। दूसरा बड़ा एलान किसानों से जुड़ा है। दस दिनों में किसानों का कर्ज माफ करने की बात की गई है। घोषणा पत्र में राइट टू हेल्थ के तहत सभी को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं देने का वादा किया गया है। बेरोजगारों को हर माह साढ़े तीन हजार रुपए भत्ता देने का एलान किया गया है। जनघोषणा पत्र जारी करते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि जनघोषणा पत्र सिर्फ डॉक्यूमेंट नहीं, बल्कि हमारा कमिटमेंट है। सरकार बनने पर तय समय सीमा में मेनिफेस्टो लागू किया जाएगा। पहली कैबिनेट में ही इसे पास कराया जाएगा। अगले पांच साल के लिए यह रोडमैप का काम करेगा। पायलट ने कहा कि कांग्रेस ने भाजपा की तरह जुमलेबाजी नहीं की है। राज्य के दो लाख से अधिक लोगों से मिले सुझाव के आधार पर जनघोषणा पत्र तैयार किया गया है

गहलोत का एलान- कांग्रेस सरकार की बंद पड़ी योजनाएं शुरू होंगी

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ऐलान किया कि पिछली कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में जो योजनाएं शुरू की गई थी। उन योजनाओं को भाजपा सरकार ने बंद कर दिया था। उन योजनाओं को सत्ता में आने के बाद कांग्रेस शुरू करेगी। जयपुर में दूसरे चरण का मेट्रो, हरदेव जोशी विश्वविद्यालय, डा. अंबेडकर विश्वविद्यालय, स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय, पत्रकारों को पांच हजार रुपये पेंशन सहित अन्य योजनाएं शुरू की जाएंगी। ...शेष | पेज 4

युवाओं को? प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बेरोजगारों का रोडवेज किराया माफ

चित्र-चरित्र
पहले भाजपा का घोषणा-पत्र और अब दो दिन बाद कांग्रेस का घोषणा-पत्र हमारे कार्टूनिस्ट चंद्रशेखर हाड़ा को कुछ यूं दिखा।

उधर, वसुंधरा बोलीं
यह चुनाव घोषणा-पत्र नहीं, छल-पत्र

कांग्रेस बताए कि किन-किन किसानों का कितना कर्जमाफ करेगी। हमने किसानों का 50 हजार रुपए तक का कर्जमाफ किया और किसानों को बिजली भी फ्री दी। इसके साथ ही ऋण राहत आयोग भी बनाया। कांग्रेस बेरोजगारों को सिर्फ 3500 रुपए बेरोजगारी भत्ता देने की बात कह रही है लेकिन भाजपा 5 हजार रुपए भत्ता देगी। कांग्रेस ने तो यह भी नहीं बताया कितनों को नौकरी देगी। कांग्रेस के घोषणा-पत्र पर प्रदेश के एक भी कांग्रेसी नेता का फोटो क्यों नहीं है...क्या प्रदेश कांग्रेस में एक भी ऐसा नेता नहीं है जिसका फोटो घोषणा-पत्र के ऊपर लगाया जा सके। यह घोषणा-पत्र नहीं, छल पत्र है।

बुजुर्गों को? 60 से 70 की उम्र वालों की पेंशन 500 से 750, इससे अधिक आयु पर पेंशन 750 से बढ़ाकर Rs.‌‌‌1000

किसे क्या दिया?
युवाओं से 17 वादे | संविदा कर्मियों को नियमित करने की बात, मुफ्त यात्रा
खाली पड़े पद तुरंत भरे जाएंगे। संविदा कर्मचारियों को नियमित करने की बात कही गई है, कैसे किया जाएगा यह स्पष्ट नहीं किया है। स्वरोजगार के लिए आसान कर्ज दिया जाएगा। शिक्षित बेरोजगार युवाओं को 3500 रुपए प्रति माह बेरोजगारी भत्ता। परीक्षाओं के लिए आने जाने के लिए बेरोजगार युवकों को प्रवेश पत्र दिखाने पर रोडवेज किराया माफ किया जाएगा। सरकारी और अन्य परीक्षाओं में किसी कारण परीक्षा न होने पर आवेदन शुल्क वापस किए जाएंगे। युवाओं के लिए कुल 17 वादे किए गए।

किसान | बुजुर्गों को पेंशन का वादा
दस दिन में कृषि ऋण माफ। 60 साल की उम्र पार कर चुके बुजुर्ग किसानों को पेंशन देने का वादा किया गया है। आसान कृषि लोन। कृषि यंत्रों, टैक्ट्रर को जीएसटी से मुक्त किया जाएगा। सस्ती बिजली। वृद्वावस्था पेंशन राशि में पांच सौ से बढ़ाकर साढ़े सात सौ और साढ़े सात सौ से बढ़ाकर एक हजार रुपये की जाएगी।

आरक्षण पर क्या कहा? गुर्जर, रायका, बंजारा, गाडिया, लुहार को एसबीसी के तहत पांच फीसदी आरक्षण देने का संकल्प। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की छात्राओं को मेरिट के आधार पर स्कूटी दी जाएगी। आर्थिक पिछड़ा सामान्य वर्ग बोर्ड का गठन। ब्राह्मणों के लिए विप्र कल्याण बोर्ड का गठन। आर्थिक आधार पर 14 फीसदी आरक्षण देने का जो वादा पूर्व कांग्रेस सरकार ने किया था, उसे लागू कराने के लिए फिर से प्रयास किए जाएंगे।

महिलाएं| हर जिले में आईटीआई
विश्वविद्यालय तक की पढ़ाई मुफ्त...जब तक पढ़ना चाहेंगी तब तक शिक्षा निशुल्क मिलेगी। हर जिले में महिलाओं के लिए आईटीआई। कामकाजी महिलाओं के लिए जिला स्तर पर हाॅस्टल। गंभीर अपराधों में त्वरित अनुसंधान और दोषियों की गिरफ्तारी। 24 घंटे चलने वाले महिला हेल्पलाइन सेंटर की स्थापना की जाएगी।

खबरें और भी हैं...