राजस्थान / पति के सामने गैंग रेप, वीडियो वायरल किया, चुनाव के कारण पुलिस ने छिपाई वारदात



गुस्से में है राजस्थान, ये दरिंदे वीडियो में मुस्करा कर दे रहे हैं पुलिस को चुनौती। गुस्से में है राजस्थान, ये दरिंदे वीडियो में मुस्करा कर दे रहे हैं पुलिस को चुनौती।
X
गुस्से में है राजस्थान, ये दरिंदे वीडियो में मुस्करा कर दे रहे हैं पुलिस को चुनौती।गुस्से में है राजस्थान, ये दरिंदे वीडियो में मुस्करा कर दे रहे हैं पुलिस को चुनौती।

  • जितनी शर्मनाक वारदात, उतनी ही बेशर्म अलवर पुलिस की कार्यप्रणाली
  • बाइक पर जा रहे थे पति-पत्नी, थानागाजी के पास पांच युवकों ने रोककर दिया वारदात को अंजाम

May 07, 2019, 05:58 AM IST

अलवर/थानागाजी/जयपुर. अलवर जिले के थानागाजी इलाके में पति काे बंधक बनाकर पत्नी से 5 युवकाें ने न केवल सामूहिक दुष्कर्म किया, बल्कि वीडियाे भी बना लिया। यह वारदात ताे शर्मनाक थी ही, इससे भी कहीं ज्यादा शर्मनाक करतूत पुलिस की रही। पुलिस ने चुनाव के कारण मामले काे चार दिन तक दबाए रखा। इस बीच वारदात का वीडियाे साेशल मीडिया पर वायरल हाे गया।

 

ये भी पढ़ें

Yeh bhi padhein

 

एसपी राजीव पंचार ने कहा कि इस संबंध में दो मई को मेरे पास पति-पत्नी आए थे। मैंने उसी समय रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए और एक टीम थानागाजी के स्तर पर व एक टीम अलवर में बना दी, परंतु अभी तक आरोपी पकड़े नहीं जा सके हैं। दूसरी ओर, बदमाशों की ओर से फोटो व वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किए जाने से पीड़िता व उसका परिवार सदमे में है। परिवार से जान-माल की सुरक्षा मांगी है।


पीड़िता ने दाे मई काे रिपाेर्ट दी। इसमें कहा कि वह 26 अप्रैल काे दाेपहर 3 बजे पति के साथ बाइक से गांव लालवाड़ी से तालवृक्ष जा रही थी। थानागाजी-अलवर बाईपास रोड पर दुहार चाैगान वाले रास्ते से कुछ ही दूर पर उनकी बाइक के आगे 5 युवकाें ने अपनी 2 बाइक लगा दी और रोक लिया। युवकाें की उम्र 20-25 साल थी। युवक महिला व पति काे जबरन रेत के बड़े टीलों की तरफ ले गए। वहां उसके पति से पहले मारपीट की, फिर बंधक बना लिया। बाद में पांचों युवकों ने महिला से सामूहिक दुष्कर्म किया। 


पीड़िता ने रिपोर्ट में लिखा कि आराेपी युवक आपस में एक दूसरे का नाम छोटे लाल उर्फ सचिन, जीतू व अशोक बाेल रहे थे। दाे युवकों के नाम वह नहीं सुन पाई। आरोपियों ने सामूहिक दुष्कर्म करने के साथ ही उसका वीडियो बनाया और जाते समय उसे वीडियो वायरल करने व पति की हत्या करने की धमकी दी। इसी धमकी के डर से 5-6 दिन तक मामला दर्ज नहीं कराया। लेकिन अब वे बदमाश उसके पति काे रोजाना मोबाइल पर धमकाने के साथ घटना का वीडियो वायरल करने की धमकी दे रहे हैं। इनमें आरोपी छोटेलाल गुर्जर गांव कराणा थाना बानसूर व अशोक गुर्जर बानसूर का रहने वाला है। रिपोर्ट में पीड़िता ने उसकी व पति की आरोपियों से सुरक्षा मांग की है।
 

बड़ा सवाल : सियासी फायदा पहुंचाना या आराेपियाें काे बचाना पुलिस का काम कब से? क्या एसपी, थाने पर कार्रवाई होगी

इस शर्मनाक घटना के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। बड़ा सवाल है कि चुनाव के कारण घटना का खुलासा नहीं कर पुलिस क्या किसी काे सियासी फायदा देना चाहती थी? एेसा नहीं था ताे पुलिस कहीं अाराेपियाें के पक्ष में ही ताे नहीं थी? अगर ये कारण नहीं हैं ताे घटना का खुलासा 4 दिन बाद तब क्याें किया, जब वीडियाे वायरल हाे गया। क्या पूरा थानागाजी थाना व अलवर एसपी जिम्मेदार नहीं हैं? हाल ही दस साल की नाबालिग से छेड़छाड़ के केस में लापरवाही बरतने के मामले काे सीकर के विशिष्ट न्यायाधीश पाॅक्साे अधिनियम ने गंभीरता से लिया। उन्हाेंने एएसपी नीमकाथाना दिनेश अग्रवाल के खिलाफ ज्यादती की धाराओं में केस दर्ज करने को कहा था।

 

एक आराेपी के खिलाफ हत्या के प्रयास और छेड़छाड़ के मामले पहले से दर्ज हैं

पीड़िता ने अपनी रिपाेर्ट में गांव कराणा निवासी छाेटेलाल गुर्जर काे नामजद किया है। उसके खिलाफ बानसूर थाने में हत्या का प्रयास, छेड़छाड़ आदि के कई मामले पहले से दर्ज हैं।

 

पुलिस की कार्यप्रणाली बेशर्म इसलिए...
मामला छिपाने पर यह जवाब दिया-
थानेदार सरदार सिंह ने कहा कि मामला एससी की महिला का था, इसलिए हम बता नहीं सकते। इस संबंध में उच्चाधिकारी ही अधिकृत हैं। 
आरोपी गिरफ्तार नहीं करने पर ये बोले- हमने आराेपियाें की तलाश के लिए टीमें बना दी हैं। दबिशें दी जा रही हैं। उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लेंगे। वीडियाे में आराेपियाें के चेहरे साफ नजर आ रहे हैं और पीड़िता की रिपाेर्ट में भी उन्हें नामजद कराया गया है, लेकिन पुलिस अभी तक किसी काे गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

 

पैसे भी ऐंठ चुके आरोपी : एसीएस (गृह)
गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने कहा कि 2 मई काे घटना की रिपाेर्ट दर्ज हुई है। घटना के बाद आराेपी पीड़िताें से वीडियाे वायरल करने की धमकी देकर एक बार पैसे भी ऐंठ चुके हैं। जब दूसरी बार पैसे मांगे ताे पीड़ित युवक स्थानीय विधायक के पास गया। जिन युवक-युवती को आरोपियों ने पकड़ा था, उनकी शादी हो चुकी है। मामला बहुत गंभीर है। आराेपियाें की पहचान कर ली गई है। इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें गठित कर दी गई हैं। जल्द ही इन्हें पकड़ लिया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना