• Home
  • Rajasthan News
  • Jaipur News
  • News
  • Jaipur - स्कूल्स में खुलने वाले प्रेक्टिस सेंटर्स में नीट और जेईई की कोचिंग भी मिलेगी
--Advertisement--

स्कूल्स में खुलने वाले प्रेक्टिस सेंटर्स में नीट और जेईई की कोचिंग भी मिलेगी

सिटी रिपोर्टर

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:45 AM IST
सिटी रिपोर्टर
चूंकि पहली बार जेईई और नीट नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) करवाने जा रही है तो इस बार दोनों एंट्रेंस एग्जाम को लेकर एनटीए स्टूडेंट्स की सुविधा पर ध्यान दे रही है। नये नोटिफिकेशन के मुताबिक सीबीएसई स्कूल्स में देशभर में 3 हजार प्रेक्टिस सेंटर खोले जा रहे हैं। इन्हें टीचिंग सेंटर्स में डवलप करने की योजना भी है। इसके लिए कुछ ही दिनों में सीबीएसई गाइडलाइन जारी कर देगी।

इन सेंटर्स में दोपहर 2 से 5 बजे तक मॉक टेस्ट के साथ-साथ स्टूडेंट्स को हायर एजुकेशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी भी करवाई जाएगी। अगले कुछ महीनों में नीट और जेईई के अलावा यूजीसी नेट, मैनेजमेंट और फार्मेसी के एग्जाम की तैयारी भी करवाई जाएगी। इन एग्जाम की बेहतर तैयारी के लिए शहर में नि:शुल्क प्रैक्टिस करने की सुविधा एनटीए की ओर से शुरू की जाएगी। हालांकि इन सेंटर्स पर मॉक टेस्ट जल्द ही शुरू हो जाएंगे लेकिन फ्री कोचिंग की सुविधा अगले साल मई से मिलेगी जिससे गांव और छोटे शहरों के होनहार स्टूडेंट्स को फायदा मिलेगा।

30 कम्प्यूटर की होगी लैब

15 हजार रु. एक सेंटर पर आएगा खर्च

10 हजार स्टूडेंट्स को मिलेगा फायदा

2019 में होने जा रहे जेईई मेन के लिए सबसे पहले होंगे मॉक टेस्ट

स्टूडेंट्स को प्रेक्टिस सेंटर्स पर मॉक टेस्ट के लिए एनटीए की वेबसाइट या मोबाइल एप पर 30 सितंबर तक रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके बाद उनको लॉगइन आईडी अलॉट किया जाएगा। इसके बाद वह 2019 में होने जा रहे जेईई मेन के लिए मॉक टेस्ट दे सकेंगे। मॉक टेस्ट देने के बाद वे अपने रिजल्ट को मेंटर्स के साथ डिस्कस कर सकेंगे।अभी सिर्फ दो से तीन सीबीएसई स्कूलों और कॉलेजों में ही एनटीए ने टेस्ट प्रैक्टिस सेंटर खाेले गए हैं। जल्द ही अन्य स्कूलों में भी यह सुविधा शुरू होगी। बता दें कि एनटीए इस बार जेईई मेंस और नीट कंडक्ट करवाएगी।एनटीए के मोबाइल एप से स्टूडेंट्स अपनी लोकेशन के पास स्थित सेंटर के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे।

प्रैक्टिस सेंटर पर मॉक टेस्ट के लिए जनरेट होगा लॉगइन आईडी और पासवर्ड

इस सेशन से इन मॉक परीक्षाओं को कराया जा रहा है। इसलिए शहर के साथ-साथ देशभर में इन टेस्ट व प्रैक्टिस सेंटर को शुरू किया गया। इसका कारण है कि ये एग्जाम इस बार कम्प्यूटर बेस्ड यानि ऑनलाइन होंगे। जबकि इससे पहले तक सीबीएसई की ओर से ये एंट्रेंस एग्जाम पेन एंड पेपर बेस्ड फॉर्मेट पर होते थे।

स्टूडेंट्स को नए एग्जाम पैटर्न पर ज्यादा से ज्यादा प्रेक्टिस करने की सुविधा देने के लिए ये सेंटर्स स्कूलों में खोले जाएंगे।यहां पर मॉक टेस्ट के अलावा कई ऑनलाइन रिसोर्सेज भी होंगे जिनसे स्टूडेंट्स को तैयारी में मदद मिलेगी।

-डा. अशोक गुप्ता, सीबीएसई गवर्निंग बोर्ड के पूर्व सदस्य

ऑनलाइन बेस्ड एग्जाम होने के कारण स्कूल्स में मॉक टेस्ट के सेंटर्स खोलने का नोटिफिकेशन पहले ही आ गया था। इसको अब अपडेट करके फ्री कोचिंग भी स्टूडेंट्स को दी जाएगी। फैकल्टी, मेंटर्स और रिसोर्स पर्सन किस लेवल के होंगे, इसकी डिटेल आनी बाकी है।

-डा.संजय पराशर, एजुकेशनिस्ट

ऐसे कराना होगा मॉक टेस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन

स्टेप 1 : कैंडीडेट को एनटीए की आधिकारिक वेबसाइट www.nta.ac.in पर विजिट करना होगा।

स्टेप 2 : उसके बाद फेसबुक, गूगल एकाउंट और मोबाइल नंबर डालना होगा।

स्टेप 3 : मोबाइल पर आए ओटीपी से वेरिफिकेशन करना होगा। इसके बाद वे मॉक टेस्ट दे सकते हैं।