जयपुर / राज्य सरकार ने केन्द्र से मांगा सहयोग, 12वीं तक की बालिकाओं को भी मिले मिड-डे-मील



शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा
X
शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासराशिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा

  • अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर आयोजित समारोह में बोले शिक्षामंत्री डोटासरा

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 06:54 AM IST

जयपुर. शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा है कि राज्य में कक्षा 9 से 12 तक की बालिकाओं के लिए भी ‘मिड-डे-मील’ प्रारंभ किए जाने पर राज्य सरकार विचार कर रही है। इसके लिए राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार से सहयोग मांगा है। केन्द्र सरकार के स्तर पर सहयोग मिलने पर राज्य सरकार अपने स्तर पर भी राशि का प्रावधान कर इस संबंध में जल्द कार्यवाही करना चाहती है।

 

डोटासरा ने यह बात शुक्रवार को शिक्षा संकुल में अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर आयोजित समारोह में कही। उन्होंने कहा कि बालिकाओं की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ ही उनका समुचित पोषण भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के साथ ही उनके सर्वांगीण विकास को ध्यान में रखते हुए कार्य कर रही है। 

 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कक्षा एक से आठ तक के बच्चों के लिए मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। इस संबंध में सभी स्तरों पर मॉनिटरिंग की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है। पहले की तुलना में अब चार गुना अधिक मॉनिटरिंग की जा रही है ताकि विद्यालय में पढ़ने वाले बालक-बालिकाओं को फोर्टिफाइड पोषाहार मिले।

 

उन्होंने कहा कि इसी संबंध में कूक एवं हेल्पर के प्रशिक्षण की भी पृथक से व्यवस्था की गई है। शिक्षा मंत्री डोटासरा ने बताया कि जन सहयोग से प्रदेश के 100 से अधिक बालिकाओं के नामांकन वाले 1000 विद्यालयों में इन्सीनेरेटर, डिस्पेंसर मशीन की स्थापना की पहल की गई है। डोटासरा ने अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बालिकाओं द्वारा जूडो-कराटे के साथ ही आत्म सुरक्षा के लिए दिए गए प्रशिक्षण के डेमो का भी अवलोकन किया। इस मौके पर राजस्थान शिक्षा परिषद के आयुक्त प्रदीप कुमार बोरड़ ने बालिका शिक्षा के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में विस्तार से अवगत कराया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना