राजस्थान / ग्लूकोमीटर, डिजिटल थर्मामीटर और बीपी उपकरण अब दवा की श्रेणी में, क्वालिटी में होगा सुधार

glucometer, digital thermometer now in medicine category
X
glucometer, digital thermometer now in medicine category

  • बाद मेडिकल डिवाइसेज निर्माता कंपनियों पर नजर रखना होगा आसान

दैनिक भास्कर

Jan 09, 2020, 02:37 PM IST

जयपुर। अस्पतालों के साथ-साथ घरों में इस्तेमाल किया जाने वाला डिजिटल थर्मामीटर, ब्लड प्रेशर नापने वाला बीपी उपकरण, डायबिटीज की जांचने वाला ग्लूकोमीटर और नेब्यूलाइजर को दवा की श्रेणी में शामिल कर लिया गया है। इसके तहत निर्माता कंपनियों को मेडिकल डिवाइसेज नियम-2017 के तहत लाइसेन्स लेना पड़ेगा और उपकरण भी क्वालिटी से युक्त उपलब्ध करवाना होगा।

राज्य सरकार भी मॉनिटरिंग के साथ-साथ कंपनियों का निरीक्षण कर सकेगी। उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार की टेक्निकल एडवायजरी बोर्ड (डीटीएबी) नई दिल्ली की सहमति के बाद बीपी उपकरण, डिजिटल थर्मामीटर, नेब्यूलाइजर और ग्लूकोमीटर को दवाओं की श्रेणी में शामिल किया है।

इसके बाद में ही स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गजट नोटिफिकेशन जारी किया है। ड्रग कंट्रोलर राजाराम शर्मा के अनुसार इस निर्णय के बाद मेडिकल डिवाइसेज निर्माता कंपनियों पर नजर रहेगी। दवा की श्रेणी में नहीं होने से नियमों के तहत कार्यवाही करने में दिक्कत आती है।

न्यूज: सुरेन्द्र स्वामी

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना