राजस्थान / कांग्रेस के अच्छे दिन, मुख्यमंत्री कौन? आज हो जाएगा फैसला

Dainik Bhaskar

Dec 12, 2018, 02:17 AM IST


Good days of congress
X
Good days of congress
  • comment

  • कांग्रेस ने जबरदस्त वापसी करते हुए भाजपा को सत्ता से बाहर किया
  • हार के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्यपाल कल्याण सिंह को इस्तीफा सौंपा

जयपुर. मंगलवार कांग्रेस के लिए मंगलकारी साबित हुआ। राजस्थान में कांग्रेस ने जबरदस्त वापसी करते हुए भाजपा को सत्ता से बाहर कर दिया। कांग्रेस और गठबंधन दल ने बहुमत का जादुई आंकड़ा 100 छू लिया है। 163 सीटों से 73 पर सिमटी भाजपा ने हार स्वीकार कर ली है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्यपाल कल्याण सिंह से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया।


‘कांग्रेस मुक्त’ भारत के अभियान पर निकली भाजपा का रथ छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में आकर रुक गया। कांग्रेस ने तीनों ही राज्यों में बढ़त हासिल कर भाजपा को सत्ता से बेदखल कर दिया। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा 15 साल से सत्ता में थी। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने दो तिहाई बहुमत से भी ज्यादा सीटें जीतीं। भाजपा यहां 17 सीटों पर सिमट गई। 


2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माने जा रहे पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए ये बड़ा झटका है। 2014 में मोदी सरकार के केंद्र में सत्तारूढ़ होने के बाद से यह पहला मौका है, जब कांग्रेस ने भाजपा से सत्ता छीनी है। हालांकि, बिहार और पंजाब में भाजपा मुख्य चेहरा होने के बजाय एनडीए घटक के तौर पर सत्ता में थी। वहीं, दिल्ली और कर्नाटक में भाजपा सत्ता में नहीं थी। लेकिन, मोदी का असर फीका रहा।

 

आगे क्या?

 

आज सरकार का दावा पेश करेगी कांग्रेस
कांग्रेस दल बुधवार शाम को राज्यपाल कल्याण सिंह के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश करेगी। कांग्रेस दल की ओर से राजभवन में राज्यपाल से मिलने के लिए शाम 7 बजे का समय मांगा गया है।
 

राहुल को भेजा जाएगा सीएम चेहरे का नाम
बुधवार सुबह कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी। मुख्यमंत्री के नाम पर सहमति होगी। नाम राहुल गांधी को भेजा जाएगा। राहुल की ओर से ग्रीन सिग्नल के बाद नाम का ऐलान किया जाएगा।

 

सबसे चर्चित 7 सीटों का क्या?

 

  • टोंक (सचिन-यूनुस) : कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पायलट ने भाजपा के यूनुस को 54,179 वोट से हरा दिया।
  • झालरापाटन (राजे- मानवेन्द्र) : वसुंधरा राजे ने पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र को 35 हजार वोटों से पटखनी दी। 
  • सरदारपुरा (गहलोत-शंभूसिंह) : पूर्व सीएम गहलोत ने भाजपा के शंभू सिंह को 45,597 वोट से हराया।
  • नाथद्वारा (सीपी-महेश प्रताप) : कांग्रेस नेता सीपी जोशी ने भाजपा के महेश प्रताप को 16,940 वोट से हराया।
  • सपोटरा (गोलमा-रमेश मीणा) : विधानसभा में उप नेता रमेश मीणा ने 14104 वोट से गोलमा देवी को हराया।
  • उदयपुर (गििरजा-कटारिया) : गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कांग्रेसी नेता गिरिजा व्यास को 9307 वोट से हराया।
  • डीग (विश्वेन्द्र-शैलेश सिंह) : कांग्रेस के विश्वेन्द्र सिंह ने दिगंबर सिंह के बेटे शैलेश सिंह को 8218 वोट से हरा दिया।

 

राजस्थान कैसे हार गई भाजपा
 

गांवों में कांग्रेस आगे, वजह- किसानों में नाराजगी


ढूंढाड़-मारवाड़ में भाजपा ने 60 सीटें हारीं: यहां भाजपा की 91 सीटें थीं। अब 31 बचीं। आनंदपाल एनकाउंटर और पद्मावत प्रकरण से शेखावाटी में भाजपा की 12 सीटें कम हुईं। ढूंढाड़ में सचिन पायलट तो मारवाड़ में गहलोत का असर रहा। मत्स्य क्षेत्र में योगी ने हनुमानजी को दलित बताया था। राजपूत विरोध में आए।

एससी/एसटी सीटें 29 कम हुईं: 2013 में भाजपा ने एससी/एसटी के लिए तय 58 सीटों में से 49 सीटें जीती थीं। इस बार कांग्रेस ने 31 जीतीं। एससी/एसटी एक्ट में केंद्र द्वारा लाए गए बिल से सवर्ण वोटर नाराज हैं। भाजपा को ही नुकसान हुआ। 

गांवों में कांग्रेस 63 सीटों से आगे : 153 ग्रामीण सीटों में से भाजपा के पास 123 सीटें थीं। इस बार कांग्रेस 63 सीटों से आगे हो गई है। किसान आंदोलन से ग्रामीण नाराज हैं। कांग्रेस के कर्ज माफी का वादा भी काम आया।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन