इलेक्शन इंटरव्यू / हार्दिक बोले, भाजपा के नेता भी मुझसे मिले, अपनों के ही घोटाले बता गए



हार्दिक पटेल। हार्दिक पटेल।
X
हार्दिक पटेल।हार्दिक पटेल।

  • पाटीदार आरक्षण आंदोलन के प्रमुख हार्दिक पटेल  का इंटरव्यू

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 09:18 AM IST

जयपुर.  राजस्थान विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी करने के लिए पाटीदार आरक्षण आंदोलन के प्रमुख हार्दिक पटेल पिछले दो दिनों से प्रदेश में सक्रिय हैं। वह रविवार को सवाई माधोपुर में किसानों की सभा को संबोधित करने पहुंंचे। भास्कर ने हार्दिक से प्रदेश प्रवास से लेकर विधानसभा चुनाव के हर उस मुद्दे पर बात की जो प्रदेश की राजनीति को प्रभावित कर सकते हैं। 

भाजपा ने कई वादे तोड़े

  1. सवाल: राजस्थान में विधानसभा चुनाव का प्रोसेस चल रह है, ऐसे में आपकी यहां क्या भूमिका है?

    मैं उस भाजपा के खिलाफ लड़ रहा हूं जिन्होंने कई वादे किए थे लेकिन निभा नहीं सके। हमें सत्ता के खिलाफ लड़ने का अधिकार मिलता है। मैं उसका प्रयोग कर रहा हूं। हम जनता को बताना चाहते हैं कि वसुंधरा और मोदी सरकार अपने वादे पूरे नहीं कर सके हैं। किसानों की समस्याएं, युवाओं को रोजगार देने का मुद्दा, महंगाई, कालाधन आदि मुद्दों को लेकर जनता के बीच काम कर रहा हूं। 

  2. सवाल: तो मानें कि आप कांग्रेस को फायदा दिलाने के लिए आए हैं? कांग्रेस से कोई डील हुई है? 


    मेरा किसानों का संगठन है। उस संगठन के बैनर तले सभाएं कर रहा हूं। कांग्रेस को कोई फायदा नहीं दिलाना चाहता हूं। कांग्रेस मेरे प्रति सॉफ्ट कॉर्नर रखती है। 

  3. सवाल: कांग्रेस के राजीव अरोड़ा आपसे मिलने होटल क्यों आए, कांग्रेस ने कोई मदद पहुंचाई हैं? 
    कांग्रेस के राजीव अरोड़ा तो क्या बीजेपी के लोग भी मुझसे मिलने आए हैं। नाम सार्वजनिक नहीं करना चाहता। बीजेपी के नेताओं ने ही मुझे बताया कि किस तरह से बीजेपी के विधायक-मंत्रियों ने प्रदेश में गोरखधंधा चला रखा है।  बजरी, टोल, खनन जैसे ठेकों में बीजेपी नेताओं की बंदरबांट है।

  4. सवाल: राजस्थान में भी आरक्षण के मुद्दे गरमा चुके है, इसे आप किस नजरिए से देख रहे हो? 

    पिछले कुछ वर्षों में धंधे चौपट हो गए है। युवा सिर्फ सरकारी नौकरी की आस कर रहा है लेकिन कई समाज आरक्षण नहीं होने की वजह से पिछड़ रहे हैं। अब समय आ गया है पॉलिसी बनानी होगी। 
     

  5. सवाल: आपको राजस्थान में पांच सभाएं करनी हैं, इसके लिए मदद कौन कर रहा हैं? 
    हमारी सभा में जनता खुद ही आती है। गाड़ियां नहीं लगानी पड़ती। 20- 25 हजार में काम हो जाता है। ये मदद जनता से होती है । बीजेपी की रैलियों में लाखों - करोड़ों रुपए खर्च होते है। उनसे भी पूछ लो। बजरंग दल, संघ और बीजेपी को फंडिंग कौन करता है। पूछो तो सही। 

COMMENT