जयपुर / प्रसव कराने वाले 3 सफाईकर्मी बर्खास्त, 3 डॉक्टरों सहित 14 पर कार्रवाई



Health Department took action on 14 including 3 doctors
X
Health Department took action on 14 including 3 doctors

  • जनाक्रोश के बीच रविवार को खुला स्वास्थ्य विभाग का दफ्तर, हर जिले में टीम पहुंची
  • बड़ा सवाल- सिर्फ निचले कर्मचारियों को सजा, डॉक्टर जो मुख्य गुनहगार, उन पर बड़ी कार्रवाई कब?

Dainik Bhaskar

Feb 10, 2019, 11:55 PM IST

जयपुर. लेबर रूम पर भास्कर के खुलासे के बाद सरकार रविवार को हरकत में आ गई। जहां-जहां सफाईकर्मी प्रसव कराते पाए गए थे, वहां स्वास्थ्य विभाग ने 14 स्वास्थ्य कर्मियों पर कार्रवाई की है। स्वास्थ्य विभाग ने 24 घंटे में सभी प्रसव केंद्रों की वस्त्ुस्थिति की रिपोर्ट मांगी है। गौरतलब है कि भास्कर ने रविवार को प्रसव यातना केन्द्र शीर्षक से खबर प्रकाशित कर  13 जिलों के 98 लेबर रूम्स का सच सामने रखा था। खबर में बताया गया था कि किस तरह अस्पतालों में सफाईकर्मी प्रसव करवा रहे हैं।

 

महिला सहयोगियों के साथ किए गए इस स्टिंग की तस्वीरें और वीडियो बतौर साक्ष्य भास्कर के पास मौजूद है। खबर प्रकाशित होने के बाद प्रदेशभर से भास्कर के पास वॉटसअप पर पांच हजार से ज्यादा प्रतिक्रियाएं आईं। जिनमें लोगों ने सरकारी लेबर रूम्स से जुड़े अपने अनुभव शेयर किए। इधर, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने प्रसव केंद्रों पर भास्कर के खुलासे के बाद सभी प्रसव केंद्रों की ऑडिट कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने 15 मार्च तक सभी लेबर रूम की डिटेल रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। 

 

हर स्वास्थ्य केंद्र पर होगा कंपलेंट रजिस्टर : 
चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने स्वास्थ्य केंद्रों पर कौन प्रसव करा रहा है, वहां के स्टाफ का व्यवहार कैसा है इसके लिए फीडबैक और कंपलेट रजिस्टर लागू करने के लिए कहा है। इनमें दर्ज शिकायतों की रिपोर्ट पीएमओ हर दिन जयपुर भेजेंगे। अगर किसी जगह शिकायत पाई गई तो उनके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी। कहीं भी यदि डिलीवरी अनट्रेंड स्टाफ से कराने की शिकायत मिली तो वहां के पूरे स्टाफ को तुरंत बर्खास्त किया जाएगा। 

 

जयपुर में कंपलेंट रिडरसल सैल : 
चिकित्सा मंत्री ने प्रदेशभर के स्वास्थ्य केंद्रों से आने वाली शिकायतों की जांच के लिए स्वास्थ्य निदेशालय में कंपलेट रिडरसल सैल बनाने के निर्देश दिए हैं।  यह सैल तुरंत कार्रवाई के लिए भी अधिकृत होगी। इसकी रिपोर्ट हर सप्ताह स्वास्थ्य मंत्री को भेजी जाएगी।

 

भास्कर की ओर से देखी गई सभी जगहों की हम जांच करा रहे हैं। सभी जोइंट डायरेक्टर को निर्देश दिए हैं कि पूरे जिले के लेबर रूम की जांच करें। -रघु शर्मा, स्वास्थ्य मंत्री 

 

अनट्रेंड स्टाफ डिलीवरी कराता पाया गया तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। लेबर रूम से जुड़ी गाइड लाइन जारी की गई है।- डॉ. समित शर्मा, निदेशक, एनआरएचएम

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना