• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Dial 100 numbers in the emergency, they are not connected, even if they are, the police says come to the police station and complain

हेल्पलेस हेल्पलाइन / इमरजेंसी में 100 नंबर डायल कराे ताे कनेक्ट ही नहीं हाेता, हो भी जाए तो पुलिस कहती है- थाने में आकर शिकायत दो

Dial 100 numbers in the emergency, they are not connected, even if they are, the police says - come to the police station and complain
X
Dial 100 numbers in the emergency, they are not connected, even if they are, the police says - come to the police station and complain

  • भास्कर ने 33 जिलाें में जाना सहायता का सच, जयपुर का फोन अजमेर लगता है
  • देहात में फोन लगे भी तो मदद मिलने में एक घंटा लगता है
  • कहीं 6 बार डायल करने पर एक बार रिस्पांस मिलता है

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 01:45 AM IST

प्रदेश के विभिन्न अंचलों से. हैदराबाद में डाॅक्टर प्रियंका रेड्डी के गैंगरेप व हत्या से पूरा देश अाक्राेशित है। प्रिंयका से दरिंदगी के बाद तेलंगाना के गृहमंत्री महमूद अली ने कहा था कि पीड़िता को अपनी बहन के बजाय पुलिस काे फाेन लगाना चाहिए था। इसके बाद देशभर में पुलिस के रेस्पांस टाइम पर सवाल उठ रहे हैं। भास्कर ने प्रदेश के 33 जिलाें में पुलिस का रेस्पांस टाइम जानने के लिए साेमवार काे 100 नंबर डायल किया तो यह हेल्पलाइन हेल्पलेस नजर आई। इमरजेंसी के समय यदि 100 नंबर डायल करें तो ज्यादातर समय वह कनेक्ट ही नहीं होता। कनेक्ट हो भी जाए तो थाने आने को कहा जाता है।

जयपुर : संभाग में हर दिन 1200 शिकायतें, फोन अजमेर लगता है
जयपुर संभाग में रोज 1200 से ज्यादा शिकायतें अाती हैं। दावा है कि 30 सैकंड में संबंधित थाना पुलिस काे सूचना फारवर्ड हाे जाती है, लेकिन सच इससे अलग है। भास्कर ने जयपुर में सोमवार रात 10:32 पर 100 नंबर डायल किया तो अजमेर कंट्राेल रूम में जा मिला।

धाैलपुर : मारपीट की शिकायत की, थाने आने को कहा गया
रविवार शाम 4.43 पर दिलशाद ने 112 पर फोन कर बताया- ससुरालियों ने उसे व पत्नी को पीटा। धौलपुर कंट्रोल रूम का नंबर 9530411842 दिया गया। कहा गया- थाने जाकर शिकायत करें।

पीड़ित ने इस नंबर पर फोन कर घटना की जानकारी दी तो यहां से कहा गया कि कोतवाली थाने पर जाकर तहरीर दो, पुलिस आ जाएगी। हम भी घटना की जानकारी उन्हें दे रहे हैं। लेकिन देर शाम तक न ही कोतवाली पुलिस आई और न ही पीड़ित से दोबारा घटना के बारे में जानकारी ली गई।

अजमेर : 10 मिनट तक काॅल अटेंड नहीं, पुलिस आई भी नहीं
दाेपहर 1:42 बजे चाैपाटी के पास छात्राओं से छेड़छाड़ की शिकायत की। शुरू के 10 मिनट कॉल होल्ड पर रही। चतर सिंह नाम के कांस्टेबल ने काॅल अटेंड की लेकिन पुलिस नहीं आई।

अलवर : नंबर डायल किया तो फोन जयपुर कंट्रोल रूम लगा
अलवर में 100 नंबर पर डायल करने के बाद जयपुर कंट्रोल रूम फोन लगा। जयपुर में भी कॉल अटैंड होने में 2 मिनट लगे। इससे पहले ऑडियो रिकॉर्डिंग चलती रही। 

काेटा : कोटा पुलिस कंट्रोल रूम के 100 नंबर पर रविवार शाम 6:45 बजे से 7:10 बजे तक कुल 6 बार फोन किया गया। 5 बार फोन नहीं लगा। छटवीं बार कॉल लगी, लेकिन कुछ सैकंड तक वेटिंग में रखा गया। फिर बात हो सकी।
 

नागौर : नागौर में शाम को 100 नंबर पर दो-तीन बार डायल किया लेकिन कोई फोन नहीं लगा। फोन पर घंटी नहीं जा रही थी। कुछ देर बाद कॉल अपने आप कट जाती थी।

बांसवाड़ा : 100 नंबर डायल करने पर फोन रेंज ऑफिस उदयपुर अभय कमांड सेंटर फिर जिला मुख्यालय स्थित कमांड सेंटर जाता है। पूरी प्रक्रिया में 20 मिनट तक लगते हैं।

कुछ जगह नंबर नहीं लग रहे, कंपनी से शिकायत की है : डीआईजी
अभय कमांड प्रभारी डीअाईजी शरत कविराज का कहना है कि कुछ जगह पर डायल 100 नंबर नहीं मिल रहे हैं। हमने भी कई जगह जाकर डायल 100 मिलाया था। कनेक्ट नहीं हाेने पर अभय कमांड का काम संभाल रही कंपनी काे बताया है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना