नीट काउंसलिंग / हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को दिया निर्देश, मॉप-अप राउंड में खाली सीटें ऑनलाइन करें



High court directs government in NEET counseling
X
High court directs government in NEET counseling

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2019, 05:34 AM IST

जयपुर. हाईकोर्ट ने नीट-2019 के जरिए एमबीबीएस में एडमिशन के मामले में राज्य सरकार को कहा है कि वह प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में मॉप-अप राउंड के बाद खाली रही सीटों को कॉलेज वार अपनी वेबसाइट पर ऑनलाइन अपलोड करते हुए सार्वजनिक करें। साथ ही स्टूडेंट को भी तीन-चार दिन का समय दिया जाए जिससे कि वे मेरिट के अनुसार मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन ले सकें। अदालत ने यह आदेश मंगलवार को फाल्गुनी सैनी की याचिका का निपटारा करते हुए दिया। याचिका में कहा कि एमबीबीएस में एडमिशन के लिए इस बार मॉप-अप राउंड के बाद भी खाली सीटों को भरने के लिए कॉलेज स्तर पर भी मॉप-अप राउंड किया जा रहा है।

 

याचिका में कहा कि कॉलेज स्तर पर मोप-अप राउंड से कॉलेजों को सीट आवंटित करने का अधिकार दे दिया है। लेकिन मेडिकल कॉलेज मॉप-अप राउंड के बाद खाली रही सीटों को सार्वजनिक नहीं कर रहे हैं। जिससे कि स्टूडेंट को यह नहीं पता चल रहा कि किस कॉलेज में कितनी सीटें खाली रह गई हैं। इसलिए मेडिकल कॉलेजों में खाली रही सीटों को सार्वजनिक कराया जाए।

 

ऐसे 8 केस...जो पहले कभी नहीं हुए

 

  • 1. चारूल चौधरी (9180) को सैकेंड राउंड में भीलवाड़ा कॉलेज मिला, वहां एडमिशन ले लिया, हॉस्टल तक अलॉट हो गया। बाद में मॉपअप राउंड में एसएमएस मेडिकल कॉलेज मिल गया।
  • 2. वाणी (5126) को अजमेर मेडिकल कॉलेज मिला, लेकिन अब उसे एसएमएस मेडिकल कॉलेज मिला है। 
  • 3. मीतांशी (17152) को पहले कोई सीट नहीं मिली, लेकिन बाद में आरयूएचएस में पेड सीट मिली। 
  • 4. ईश्वर सिंह (13839) को दोनों काउंसलिंग में कहीं नहीं मिल पाया लेकिन मॉपअप के बाद वह भरतपुर मेडिकल कॉलेज का स्टूडेंट है।  
  • 5.  वैशाली (3492) को पहले उदयपुर मेडिकल कॉलेज मिला, लेकिन उसी से कम रैंक वाले को जयपुर एसएमएस मेडिकल मिला। 
  • 6. विधि (13730) को पाली मेडिकल कॉलेज की पेमेंट सीट मिली लेकिन (13772) को चूरू में फ्री सीट मिल गई। 
  • 7. आनंद अग्रवाल को जोधपुर मेडिकल कॉलेज मिला। क्लजास ज्वाइन की, हॉस्टल भी अलॉट हो गया। मॉपअप राउंड के एक दिन पहले रिजाइन किया। अब एसएमएस मेडिकल मिल गया। 
  • 8. सरिका मिश्रा (1293) को सैंकेंड राउंड में एसएमएस मेडिकल कॉलेज मिला लेकिन (12793) वाली रैंक वाले स्टूडेंट को भी मॉपअप राउंड में एसएमएस मेडिकल कॉलेज मिला है।
  •  

मंत्री बोले- आपत्तियां मिली हैं, नियमों से काउंसलिंग हो

नीट मामले में मुझे काफी आपत्तियां मिली हैं और नियमों के तहत सही तरीके से काउंसलिंग करानी चाहिए। - रघु शर्मा, चिकित्सा मंत्री 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना