हनी ट्रेप / पत्नी के जरिए कारोबारी को फोन पर मीठी बातें कर फंसाया, मिलने के बहाने बुलाकर अपहरण, मांगी फिरौती



परबतसर थाना पुलिस की गिरफ्त में हनी ट्रेप गैंग परबतसर थाना पुलिस की गिरफ्त में हनी ट्रेप गैंग
X
परबतसर थाना पुलिस की गिरफ्त में हनी ट्रेप गैंगपरबतसर थाना पुलिस की गिरफ्त में हनी ट्रेप गैंग

  • नागौर की परबतसर पुलिस ने 2 महिलाओं समेत 4 जनों को किया गिरफ्तार
  • मार्बल खरीदने का झांसा देकर मांगे मोबाइल नंबर, फिर बातें कर फंसाया

Feb 07, 2019, 06:25 PM IST

नागौर. जिले में एक मार्बल कारोबारी का अपहरण कर हनीट्रेप में फंसाने और पुलिस केस में फंसाकर रुपए हड़पने का मामला सामने आया है। इस संबंध में पीड़ित कारोबारी की रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए परबतसर थाना पुलिस ने हनीट्रेप गैंग को धरदबोचा। इसमें गैंग का सरगना उसकी दो पत्नियां और एक साथी शामिल है। एसपी नागौर डॉ. गगनदीप सिंगला ने बताया कि परबतसर निवासी गिरफ्तार आरोपी बनवारीलाल बागरिया, उसकी पत्नी संजू व संज्या तथा एक साथी पप्पू जाट है।

मिलने के बहाने बुलाकर किया बोलेरो में अपहरण, फिर कारोबारी की पत्नी को फोनकर मांगी फिरौती

  1. एसपी डॉ. गगनदीप ने बताया कि इस संबंध में गैंग के शिकार मार्बल कारोबारी किशनचंद शर्मा ने परबतसर थाने में मुकदमा दर्ज करवाया था। जिसमें बताया कि एक सप्ताह पहले आरोपी बनवारीलाल बागरिया व पप्पू जाट दो महिलाओं के साथ उसके यहां किशनगढ़ मार्बल खरीदने आए। यहां मार्बल पसंद करने का नाटक किया और दोबारा आने की बात कहकर चले गए।

  2. पीड़ित किशनचंद ने बताया कि आपसी बातचीत में गैंग ने उनके मोबाइल नंबर भी ले लिए। इसके बाद ममता नाम की एक महिला ने मार्बल कारोबारी को फोन कर प्यार मोहब्बत की बातें करना शुरु कर दिया। महिला ने व्यापारी को बातों में फंसाकर 6 फरवरी को परबतसर जेल के पास मिलने बुलाया। तब झांसे में आकर पीड़ित किशनचंद बुधवार दोपहर करीब 2:30 बजे परबतसर जेल के पास पहुंचे।

  3. जहां बनवारीलाल व पप्पू ने अपनी साथी महिलाओं के साथ किशनचंद का अपहरण कर बोलेरो गाड़ी में पटक लिया। उसे रात करीब 8 बजे तक कुचामन तक ले गए। इस बीच बनवारीलाल ने उसकी पत्नी से गलत बातें करने और बाचतीत की रिकार्डिंग पुलिस को देखकर मुकदमा दर्ज करवाने की धमकियां दी। इसके बाद पीड़ित किशनचंद की पत्नी को फोन कर एक लाख रुपए मांगे।

  4. फिरौती के लिए फोन आने पर कारोबारी की पत्नी ने दी परबतसर थाना पुलिस को सूचना

    तब किशनचंद की पत्नी ने परबतसर थाना पुलिस को सूचना दी। तब एसपी गगनदीप के निर्देशन में डीडवाना एएसपी नीतेश आर्य, सीओ रामचंद्र नेहरा, परबतसर थानाप्रभारी पुष्पेंद्र बंशीवाल व कुचामन सिटी थानाप्रभारी प्रशिक्षु सुधा पालावत के नेतृत्व में टीमें बनाई। तब बदमाशों के बताई जगह पर व्यापारी किशनचंद की पत्नी रुपए लेकर उनकी बताई जगह पर पहुंचती।

  5. लेकिन पकड़े जाने के डर से गैंग जगह बदलता रहा। इसी बीच बदमाशों को पुलिस की भनक लग गई। वे देर रात परबतसर पहुंचे। वहां बीच रास्ते में अपहृत कारोबारी किशनचंद को उतार दिया। इसके बाद बनवारीलाल ने चालाकी दिखाई और खुद पीड़ित बनकर पत्नी के साथ परबतसर थाने पहुंच गया। वहां कारोबारी किशनचंद के खिलाफ उसकी पत्नी से अश्लील बातें करने की रिपोर्ट दर्ज करवाने लगा।

  6. दुर्लभ कछुआ बेचने का झांसा देकर भी करते है ठगी की वारदातें

    तब तक कारोबारी किशनचंद और उसकी पत्नी भी थाने पहुंची। जहां गैंग का भेद खुल गया। मामला अपहरण व हनीट्रेप से जुड़ा होने पर पुलिस ने बनवारी, उसकी दोनों पत्नियों व साथी पप्पू जाट को पूछताछ के बाद गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। मकराना उपाधीक्षक रामचंद्र सिंह नेहरा ने बताया कि आरोपी बनवारी पहले भी दुर्लभ कछुआ बेचने का झांसा देकर ठगी की वारदातें कर चुका है।

  7. वह भोले लोगों को बातों में फंसाकर दुर्लभ कछुआ बेचने का झांसा देते है। फिर 7-8 लाख रुपए में सौदा कर लेते है। इसमें पप्पू भी बोगस ग्राहक बनकर बनवारी बागरिया के साथ ठगी में सहयोग करता है। इनके खिलाफ नावां और बोरावड़ थाना इलाके में कछुआ बेचने की ठगी की वारदातें करने की जानकारी सामने आई है।

     

    खबर व फोटो: विष्णु शर्मा, अभिमन्यु जोशी

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना