जयपुर / नि:शुल्क दवा योजना में सेवाएं खत्म करने से नाराज दो संविदाकर्मी पानी की टंकी पर चढ़े, कहा- मांगे मानने पर उतरेंगे

तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी और नीचे धरने पर उनके साथी तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी और नीचे धरने पर उनके साथी
तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी
तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी
X
तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी और नीचे धरने पर उनके साथीतोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी और नीचे धरने पर उनके साथी
तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मीतोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी
तोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मीतोपखाना के मैदान में पानी की टंकी पर चढ़े संविदाकर्मी

  • जालूपुरा इलाके में सिंहद्वार के पास तोपखाने के मैदान में है टंकी
  • पांच सूत्री मांगों का ज्ञापन देने सिविल लाइंस गए थे संविदा कर्मचारी
  • पुलिस ने खाली हाथ लौटाया तो जालुपूरा पहुंचकर टंकी पर चढ़ गए

दैनिक भास्कर

Mar 03, 2020, 09:00 PM IST

जयपुर. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा एवं जांच योजना में संविदा पर कार्यरत दो कंप्यूटर ऑपरेटर्स मंगलवार देर शाम जालूपुरा इलाके में तोपखाने के मैदान में बनी पानी की टंकी पर चढ़ गए। इनमें एक युवक का नाम करौली निवासी पुष्पेंद्र और भरतपुर निवासी उसका साथी है। बताया जा रहा है कि नि:शुल्क दवा योजना में कार्यरत इन कंप्यूटर ऑपरेटर्स की 29 फरवरी 2020 से राज्य के चिकित्सा विभाग द्वारा सेवाएं समाप्त करने का निर्णय लिया था। तब से ये संविदा कर्मचारी विरोध में उतर गए थे।

इन्होंने मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा एवं जांच योजना कम्प्यूटर ऑपरेटर संघ, अजमेर के तत्वावधान में धरना प्रदर्शन किया और 24 फरवरी से सामूहिक हड़ताल की घोषणा कर दी थी। लेकिन सरकार द्वारा इनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही थी। मंगलवार को ये कर्मचारी अपनी पांच सूत्री मांगों का एक ज्ञापन देने के इरादे से सीएम हाउस के लिए रवाना हुए थे। वे सिविल लाइंस तक पहुंचे। वहां पुलिस ने इन्हें वापस लौटा दिया।

बताया जा रहा है कि इसके बाद संविदा कर्मचारी पुष्पेंद्र अपने एक साथी के साथ जालुपुरा में सिंहद्वार के पास तोपखाना के मैदान पहुंचे। जहां जलदाय विभाग की टंकी पर चढ़ गए। इसका पता चलने पर विरोध प्रदर्शन कर रहे इनके साथी भी वहां पहुंचे और टंकी के नीचे धरने पर बैठ गए।

तब सूचना मिलने पर एडिशनल डीसीपी धर्मेंद्र सागर सहित कोतवाली, जालुपूरा थाना पुलिस का जाब्ता मौके पर पहुंचा। सिविल डिफेंस की टीम भी मौके पर पहुंची। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने दोनों युवकों से नीचे उतरने की अपील की। लेकिन सरकार द्वारा उनकी मांगों को मानने का लिखित आश्वासन नहीं देने तक उन्होंने नीचे उतरने से मना कर दिया। ऐसे में पुलिस और नागरिक सुरक्षा के जवानों की टीम वहां मौजूद रही।

फोटो व रिपोर्ट: उदय चौधरी

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना