जयपुर / दुष्कर्म केस में कांस्टेबल को राजीनामा करवाने का झांसा देकर हड़पे लाखों रुपए, फर्जी एडवोकेट गिरफ्तार

विद्याधर नगर थाने में गिरफ्तार कृष्ण कुमार शर्मा विद्याधर नगर थाने में गिरफ्तार कृष्ण कुमार शर्मा
X
विद्याधर नगर थाने में गिरफ्तार कृष्ण कुमार शर्माविद्याधर नगर थाने में गिरफ्तार कृष्ण कुमार शर्मा

  • मामले में केस दर्ज करवाने वाली महिला व उसका साथी पहले हो चुके है गिरफ्तार
  • कांस्टेबल का आरोप-प्रेमजाल में फंसाकर केस दर्ज करवाया, फिर हड़पे रुपए, गहने

दैनिक भास्कर

Jan 24, 2020, 08:43 PM IST

जयपुर. दुष्कर्म के एक मुकदमे में आरोपी पुलिस कांस्टेबल का शिकायतकर्ता महिला से राजीनामा करवाने का झांसा देकर लाखों रूपए हड़पने वाले एक फर्जी एडवोकेट को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। डीसीपी (नार्थ) डॉ. राजीव पचार ने बताया कि मानपुरा माचेड़ी, चंदवाजी हाल सेक्टर 8 विद्याधर नगर निवासी गिरफ्तार आरोपी कृष्ण कुमार शर्मा है। वह खुद को एडवोकेट बताता है। ब्लेकमेलिंग व ठगी के विद्याधर नगर थाने में दर्ज इस मुकदमे में कृष्ण कुमार पिछले करीब 6 माह से फरार चल रहा था। इसके पहले ब्लेकमेलिंग व रुपए ऐंठने वाली इस गैंग में शामिल तथा दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाने वाली सुमन सैनी तथा उसके मित्र मनोज गुर्जर को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

2 साल पहले प्रेमजाल में फंसाकर करवाया था दुष्कर्म का केस दर्ज

डीसीपी डॉ. राजीव पचार के मुताबिक सीआईडी सीबी में पदस्थापित कांस्टेबल रोहिताश कुमार मीणा ने 10 मई 2019 को विद्याधर नगर थाने में एक मुकदमा दर्ज करवाया था। जिसमें बताया कि सुमन सैनी ने दो साल पहले उसे प्रेमजाल में फंसाकर विद्याधर नगर थाने में दुष्कर्म का झूठा मुकदमा दर्ज करवा दिया और पैसों की डिमांड शुरु कर दी। पहले उसने 3 लाख रूपए मांगे। फिर इंकार करने पर झूठे गवाहों और साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तार करवाकर जेल भिजवा दिया। मामले में अनुसंधान अधिकारी ने कोर्ट में चालान भी पेश कर दिया।

खुद को एडवोकेट बताकर बैंक से दिलवाया 12 लाख रूपए का लोन

एडिशनल डीसीपी धर्मेंद्र सागर के मुताबिक पुलिस पड़ताल में सामने आया कि आरोपी कृष्ण कुमार ने गैंग में शामिल सुमन सैनी व मनोज गुर्जर के साथ षड़यंत्र रचा। उसने खुद को एडवोकेट बताकर सुमन की तरफ से दर्ज दुष्कर्म के मुकदमे में आरोपी बनाए कांस्टेबल रोहिताश कुमार को राजीनामा करवाने का झांसा दिया। राजीनामे के नाम पर स्वयं गारंटर बनकर कांस्टेबल रोहिताश कुमार मीणा का एक फाइनेंस कंपनी से 12 लाख रूपए का लोन स्वीकृत करवाया। इसके बाद सुमन सैनी के खाते में 6 लाख रूपए ट्रांसफर करवा दिए। साथ ही, कांस्टेबल रोहिताश को झांसा देकर उसकी पत्नी की करीब 5 तोला सोने की चूडियां भी हड़प ली।

गत जून माह में ब्लेकमेल कर रुपए वसूलते वक्त पकड़ी गई थी महिला व साथी

तब पुलिस कांस्टेबल रोहिताश कुमार की ओर से दर्ज रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने केस दर्ज करवाने वाली सुमन सैनी व उसके साथी मनोज सैनी निवासी थोई, जिला सीकर को जून 2019 में सनसिटी, सीकर रोड पर कांस्टेबल रोहिताश को ब्लेकमेल कर 50 हजार रुपए हड़पते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया था। तब से आरोपी कृष्ण कुमार शर्मा फरार था। रिपोर्ट व फोटो: उदय चौधरी

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना