लोकसभा चुनाव  / चार प्रत्याशी तो विदेश में पढ़कर आए एक सिर्फ साक्षर, दो ने शादी नहीं की और एक की दो बीवी



अर्जुन मीणा अपनी दोनों पत्नियों के साथ। अर्जुन मीणा अपनी दोनों पत्नियों के साथ।
X
अर्जुन मीणा अपनी दोनों पत्नियों के साथ।अर्जुन मीणा अपनी दोनों पत्नियों के साथ।

  • कांग्रेस के मानवेंद्र, झुनझुनवाला और दीयाकुमारी ने लंदन से पढ़ाई की, भाजपा के दुष्यंत अमेरिका से पढ़े
  • हलफनामों में ज्यादातर उम्मीदवारों ने अपनी आय का जरिया कृषि और ब्याज बताया

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 04:15 AM IST

जयपुर (आनंद चौधरी). लोकसभा की 25 सीटों से ताल ठोक रहे कांग्रेस-भाजपा उम्मीदवारों के शिक्षा, व्यवसाय और जीवन से जुड़े विविध रंग सामने आए हैं। प्रदेश में चार उम्मीदवार विदेश में पढ़े हैं तो एक उम्मीदवार सिर्फ हस्ताक्षर करना जानते हैं। एक के दो पत्नियां हैं तो दो अविवाहित। उम्मीदवारों के हलफनामों से ये रोचक जानकारियां सामने आईं। 

 

बाड़मेर से कांग्रेस के मानवेंद्र सिंह, अजमेर से कांग्रेस के रिजु झुनझुनवाला और राजसमंद भाजपा उम्मीदवार दीयाकुमारी ने लंदन से पढ़ाई की है। झालावाड़ से भाजपा के दुष्यंत सिंह अमेरिका से पढ़े हैं। मानवेंद्र और दुष्यंत ने अपनी आजीविका का साधन खेती और संसद से मिलने वाला वेतन व पेंशन बताया है। रिजु झुनझुनवाला और दीयाकुमारी ने आजीविका का साधन व्यापार बताया है। पाली से कांग्रेस उम्मीदवार बद्रीराम जाखड़ महज साक्षर हैं तो भरतपुर से भाजपा उम्मीदवार रंजीता कुमारी 9वीं पास हैं। 

 

कांग्रेस व भाजपा के ज्यादातर उम्मीदवारों ने हलफनामों में यह हवाला दिया है कि उनकी आमदनी का जरिया कृषि व ब्याज है। पाली से भाजपा उम्मीदवार पीपी चौधरी, राजसमंद से कांग्रेस उम्मीदवार देवकीनंदन काका, कोटा से कांग्रेस उम्मीदवार रामनारायण मीणा, जयपुर ग्रामीण से कांग्रेस उम्मीदवार कृष्णा पूनिया सहित कई नेताओं ने अपनी आमदनी का जरिया ब्याज ही बताया है। 

 

भरतपुर से भाजपा उम्मीदवार रंजीता कुमारी ग्रहिणी हैं तथा उनकी आजीविका का कोई साधन नहीं है। इसी तरह अलवर से भाजपा उम्मीदवार बालकनाथ ने न कभी आयकर रिटर्न भरा और ना कभी नौकरी की। उनकी आजीविका बाबा मस्तनाथ मठ अस्थल बोहर के महंत के रूप में ही चलती है। करौली-धौलपुर से कांग्रेस उम्मीदवार संजय कुमार ई-मित्र संचालक हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना