इंटरव्य / वसुंधरा और पायलट से आरोप-प्रत्यारोप, सरकार बनाने के दावों पर बात

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 03:04 AM IST



interview with vasundhara raje and sachin pilot
X
interview with vasundhara raje and sachin pilot
  • comment

  • वसुंधरा ने कहा, 5 साल में जितने लोगों से मिली, कांग्रेसी आज तक नहीं मिले
  • पायलट बोले, हार सम्मानजनक हो, सिर्फ इसीलिए संघर्ष कर रही है भाजपा

जयपुर.  प्रदेश में 7 दिसंबर को 199 विधानसभा सीटों पर 2274 प्रत्याशियों के भाग्य का 4.75 करोड़ मतदाता फैसला करेंगे। मतदाताओं को रिझाने के लिए पिछले दो सप्ताह से जारी प्रचार का शोर-शराबा बुधवार शाम 5 बजे समाप्त हो गया। अब प्रत्याशी घर-घर जाकर ही जनसंपर्क कर सकेंगे। चुनाव प्रचार थमने से ठीक पहले भास्कर ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट से सीधी बात की।

 

दोनों ही नेताओं से चुनाव प्रचार के दौरान लगे आरोप-प्रत्यारोप, ज्वलंत मुद्‌दों और सरकार बनाने के दावों को लेकर सवाल पूछे गए। भाजपा व कांग्रेस दोनों ही दल अपनी सरकार बनने के दावे कर रहे हैं। मतदाता सत्ता का ताज किसे पहनाएंगे, यह 7 दिसंबर को तय होगा। फैसला 11 दिसंबर को आएगा। पढ़िए दोनों का विस्तृत इंटरव्यू।

 

वसुंधरा राजे:-

 

सवाल : कांग्रेस आप पर व्यक्तिगत आरोप लगा रही है। क्या कहेंगी ? 
वसुंधरा : वे बौखला गए हैं। इस बार वे विकास के मामले में हमारी कमी नहीं ढूंढ पा रहे हैं, तो किसने किस रंग की साड़ी पहनी, कौन किसके सामने कितना झुका, किसकी जाति क्या है, जैसी बातें कर रहे हैं।

 

सवाल : आपके हिसाब से कांग्रेस के पास मुद्दे नहीं हैं?

वसुंधरा : हमें भी इंतजार था कि वे जनता के लिए कुछ ठोस वादे लाएंगे, लेकिन साफ है कि उनके पास मुद्दे नहीं हैं।

 

सवाल : प्रचार के दौरान आरोप-प्रत्यारोप में विकास के मुद्दे पीछे रह गए?
वसुंधरा : नहीं, मैंने हमेशा विकास को ही आगे रखा। जनता को यही याद दिलाया कि 5 साल पहले कहां खड़े थे और अब कितनी अच्छी स्थिति हो गई है। युवा, महिलाओं और किसानों पर सीधी बात कर रहे हैं।

 

सवाल : कांग्रेस का कहना है कि आपके राज में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं?

वसुंधरा : उन्हें पहले खुद के गिरेबां में झांककर देखना चाहिए। सब जानते हैं कि उनके खुद के मंत्री किन-किन मामलों में जेल गए। उनके समय में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि राजस्थान में सरकार है या नहीं है? बच्चियों के लिए 
तो हमने इतना सख्त कानून लागू कर दिया है कि अब कोई भी उनकी तरफ अंगुली नहीं उठाएगा। इसमें 9 लोगों को फांसी की सजा हो भी चुकी है।

 

सवाल : बेरोजगारी और किसानों की आत्महत्या के मुद्‌दे जमकर उठा रहे हैं कांग्रेसी।
वसुंधरा : उन्हें अचानक चिंता हो गई। वे बताएं कि 55 साल से क्या कर रहे थे, कितनों को रोजगार दिया, किसानों के लिए क्या किया? हमने 5 साल में इन दोनों मामलों में काफी कोशिश की है। सरकारी नौकरियों, रोजगार मेलों, मुद्रा लोन जैसी योजनाओं को मिला लें, तो 60 लाख से ज्यादा रोजगार के अवसर मिले हैं। 

 

सवाल : राहुल गांधी कहते हैं कि वे 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ कर देंगे।
वसुंधरा : राहुल गांधी झूठाें के बादशाह हैं। हमने इतिहास में पहली बार 30 लाख किसानों का 50 हजार तक का कर्जा माफ किया है। शेष | पेज 6
किसान ऋण राहत आयोग बनाएंगे, ताकि किसानों का फिर से कर्जा माफ किया जा सके।

 

सवाल : झालरापाटन में आपके सामने मानवेंद्र सिंह को उतारकर कांग्रेस ने क्या कास्टिज्म का कार्ड खेला है?
वसुंधरा : मुझे लगता है कोशिश की है। मैं बताना चाहूंगी कि झालावाड़ से मेरा 30 साल पुराना रिश्ता है। वो मेरे लिए परिवार की तरह है।

 

सवाल : जीत के कितने करीब हैं?
वसुंधरा : हम जनता के आशीर्वाद से सरकार बनाएंगे और अच्छे बहुमत से जीतेंगे।

 

सवाल : आपकी सभाओं में महिलाओं में काफी उत्साह रहता है। आपको लगता है कि पुरुषों की तुलना में महिलाएं आपको ज्यादा वोट करेंगी?
वसुंधरा : ये सही है कि महिलाएं मुझमें अपना चेहरा देखती हैं। देश में पहली बार पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में आधे पदों पर महिलाओं का आरक्षण लागू किया। हमने ऐसी कई योजनाएं लागू की, जिन्होंने महिलाओं का जीवन बदला है। जहां तक वोटों का सवाल है, तो हमें महिलाएं ही नहीं, पुरुष भी उत्साह के साथ वोट करेंगे।

 

सवाल : आम आदमी की सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है।

वसुंधरा : आप देखिए आतंकवादी ताकतें मोदी जी के शासन में आंख उठाकर भी नहीं देख सकती, क्योंकि भाजपा के लिए देश की सुरक्षा प्राथमिकता है। जहां तक आम आदमी की बात है, तो हमारे राज में क्राइम रेट भी कम हुई है।

 

सवाल : भ्रष्टाचार को लेकर गहलोत और सचिन आप पर आरोप लगाते हैं?
वसुंधरा : ये उसी कांग्रेस के नेता हैं जिसे लोग इंडियन नेशनल करप्शन पार्टी कहते हैं। गहलोत सरकार में तो टीवी पर 3-3 मंत्रियों को नोटों के बंडल लेते हुए पूरे देश ने देखा था। हमारी सरकार ने तो भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस पर काम किया।

 

सवाल : कांग्रेस का एक मुद्दा यह भी है कि आप महारानी हैं, लोगों से कम मिलती हैं।
वसुंधरा : कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए ऐसे आरोपों के अलावा उसके पास कहने को कुछ भी नहीं है। जितने लोगाें से मैं इन 5 सालों में मिली हूं, उतने लोगों से कांग्रेस के नेता कभी नहीं मिले। मेरा दावा है कि महिला होने के बावजूद प्रदेश में लोगों के बीच सबसे ज्यादा रहने वाली पहली सीएम हूं।

 

सचिन पायलट:-

 

सवाल : कांग्रेस को घेरने के लिए भाजपा ने मोदी, शाह को मैदान में उतारा, माना जा रहा कि भाजपा ने चुनाव में वापसी की है?
पायलट : भाजपा तो सिर्फ बात करती रही। चुनाव के आखिरी समय में भाजपा के सारे नेता राजस्थान पहुंचे। ये नेता पांच साल कहां थे, जब प्रदेश में किसान और बेरोजगार आत्महत्या कर रहा था। युवा दर-दर की ठोकरें खा रहा था तब मोदी, शाह और दूसरे केंद्रीय मंत्री कहां थे। भ्रष्टाचार चरम पर था। पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह तो राजस्थान में सिर्फ हार के अंतर को कम करने के लिए घूम रहे है, जिससे भाजपा की प्रदेश में सम्मानजनक हार हो सके।

 

सवाल : भाजपा कह रही है कि कांग्रेस लोगों को भारत माता के नारे नहीं लगने दे रही है? 
पायलट : भारत माता की जय बोलने पर किसी पार्टी विशेष का पेटेंट नहीं है। किसी एक दल का अधिकार नही है। जिस पार्टी के नेता भ्रष्टाचार को पोसते हैं, वे सच्चे देश भक्त कैसे हो सकते हैं। नारे तो भारत माता की जय के लगाए जा रहे हैं और मदद उद्योगपतियों की किए जा रहे हैं। किसानों, बेरोजगारों को पूछने वाला कोई नहीं है। ये दोहरी बात कैसे चलेगी।

 

सवाल : भाजपा को ऐसा महसूस होने लगा है कि वह फिर से सरकार बनाने जा रही है?
पायलट : सपने कोई भी देख सकता है। चार साल 11 महीने 25 दिन, जो पीड़ा प्रदेश की जनता ने भोगी है, उसे कैसे कोई भूल सकता है। प्रदेश की जनता मना बना चुकी है कि राजस्थान में सरकार बदलनी है और कांग्रेस की सरकार लानी है।

 

सवाल : कांग्रेस की कितनी सीटें आ रही हैं?
पायलट : 11 दिसंबर को सीटें भी आ जाएंगी और आंकड़ा भी मिल जाएगा। भाजपा की नाकामियों का जवाब जनता दे देगी। कांग्रेस भारी बहुमत से सरकार बनाएगी।

 

सवाल : सरकार आपकी बन रही है तो ये भी बता दीजिए कि सीएम कौन बन रहा है?
पायलट : बार-बार यहीं सवाल पूछा जा रहा है। हमारी पहली लड़ाई प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने की है। सीएम तो विधायक दल की मीटिंग में तय हो जाएगा।

 

सवाल : क्या टोंक सीट पर भाजपा ने सचिन पायलट को घेर लिया है?
पायलट : भाजपा ने जिस उम्मीद से सरकार के नंबर टू मंत्री यूनुस खान को टोंक में उतारा था। उनका मकसद पूरा नहीं हो पाया। भाजपा ने टोंक में जिस ध्रुवीकरण के लिए पासा फेंका था, वह फेल हो गया है। भाजपा ने तो यूनुस खान को केवल हारने के लिए भेजा है। भाजपा नरेंद्र मोदी, अमित शाह या योगी को टोंक में क्यों नहीं लाई? मैं तो इंतजार करते रह गया।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन