राजस्थान / मंत्री भंवरलाल बोले, वर्ल्ड हैरिटेज सिटी पर भिखारी दाग की तरह, अब पकड़कर फ्रेंडली डिटेंशन सेंटर में रखे जाएंगे

जयपुर में भिखारियों को पकड़कर डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा। जयपुर में भिखारियों को पकड़कर डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा।
X
जयपुर में भिखारियों को पकड़कर डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा।जयपुर में भिखारियों को पकड़कर डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा।

  • पुलिस पकड़ेगी भिखारियों को, एनजीओ को सरकार प्रति भिखारी के हिसाब से पैसा देगी
  • भिखारियों को पकड़कर एनजीओ के फ्रेंडली डिटेंशन सेंटर में ले जाया जाएगा

दैनिक भास्कर

Feb 06, 2020, 06:48 PM IST

जयपुर. राजधानी जयपुर को भिखारी मुक्त करने के लिए जल्द ही अभियान शुरू होगा। राजधानी में भिखारियों की धरपकड़ होगी। भिखारियों को पकड़ने का टास्क पुलिस को दिया जाएगा। राजधानी जयपुर में भिखारियों के लिए फ्रेंडली डिटेंशन सेंटर बनाए जाएंगे, इनके संचालन का जिम्मा एनजीओ का होगा।

सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल ने गुरुवार को बताया कि पुलिस भीख मांगने वालों को पकड़कर एनजीओ द्वारा संचालित फ्रेंडली डिटेंशन सेंटर्स को सौंपेंगी। फ्रेंडली डिटेंशन सेंटर भिखारी पुनर्वास केंद्र की तरह ही काम करेंगे, जहां उन्हें रहने और खाने पीने से लेकर स्किल डवलपमेंट तक की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। सीएम अशोक गहलोत ने बजट में जयपुर को भिखारी मुक्त करने की घोषणा की थी।

भिखारियों को पकड़ने का जिम्मा पुलिस का होगा, भिखारी प्रभावित इलाकों में सादा वर्दी में भी पुलिसकर्मी तैनात होंगे, ताकि आसानी से भिखारियों को पकड़ा जा सके। भिखारियों को रखने को फ्रेंडली डिटेंशन सेंटर्स संचालन के लिए तीन एनजीओ का चयन किया गया है। जल्द ही इनमें से चयन कर सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग इनके साथ एमओयू करेगा।

एनजीओ को सरकार प्रति भिखारी के हिसाब से पैसा देगी। भंवरलाल ने बताया कि शुरू में तो कोई एनजीओ आगे ही नहीं आ रहा था, अब तीन एनजीओ छांटे गए हैं। 10 से 20 फरवरी के बीच एमओयू हो जाएगा। राजधानी जयपुर के परकोटा क्षेत्र को ही यूनेस्को से वर्ल्ड हेरिटेज सिटी का सर्टिफिकेट मिला है।

वर्ल्ड हेरिटेज सिटी में चौक चौराहों पर भीख मांगते भिखारी इस पर एक बड़ा दाग हैं, ऐसे में अब शहर को भिखारी मुक्त करने के लिए जल्द अभियान शुरू किया जाएगा। इस मामले में पहले भी कई बार फौरी तौर पर अभियान चलाए गए, लेकिन कुछ ही दिनों बाद ही भिखारी वापस चौराहों पर जम गए। इस बार उम्मीद की जानी चाहिए कि वर्ल्ड हैरिटेज सिटी को स्थाई रूप से भिखारी मुक्त करने की दिशा में ठोस काम होगा।

न्यूज : प्रेम प्रताप सिंह
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना