• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • It has not been decided even in three years, where will 732 crores be spent in making the city smart, the work of Rs.279 crores was not decided on the tender

जयपुर / तीन साल में भी तय नहीं हुआ शहर काे स्मार्ट बनाने में 732 कराेड़ कहां खर्च होंगे, 279 रुपए कराेड़ के काम तो तय पर टेंडर हुए ही नहीं

जयपुर: शहर में जाे काम हुए, वो भी अधूरे पड़े हैं। जयपुर: शहर में जाे काम हुए, वो भी अधूरे पड़े हैं।
X
जयपुर: शहर में जाे काम हुए, वो भी अधूरे पड़े हैं।जयपुर: शहर में जाे काम हुए, वो भी अधूरे पड़े हैं।

  • जनवरी में प्रोजेक्ट की डीपीआर बननी थी, अभी बैठक ही नहीं हुई; जून तक डेडलाइन
  • 26 कराेड़ के काम पूरे शहर में हुए हैं, उनमें भी कराेड़ाें का नुकसान हो गया

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2020, 02:56 AM IST

जयपुर (ओमप्रकाश शर्मा).  शहर काे स्मार्ट बनाने में कंसल्टेंसी कंपनी ही नहीं बल्कि अफसराें की बड़ी लापरवाही सामने आई है। अफसर तीन साल में भी तय नहीं कर पाए कि स्मार्ट सिटी में 732 कराेड़ रुपए कहां खर्च होंगे। जून तक कामकाज तय नहीं हुआ ताे बजट नहीं मिलेगा अाैर शहर काे स्मार्ट बनाए जाने की कवायद खटाई में पड़ जाएगी। तीन साल में सिर्फ 26 कराेड़ के काम ही स्मार्ट सिटी के तहत हुए हैं जबकि बजट 1427 कराेड़ रुपए है। हैरान करने वाली बात यह कि जाे काम हुए भी है, वो भी अधूरे हैं। स्मार्ट सिटी के सीईओ लोक बंधु का कहना है स्मार्ट सिटी में जाे काम चल रहे हंै, वे काम कुछ लीगल इश्यू से समय पर पूरे नहीं हुए। जल्द ही प्रस्तावित कार्याें के टेंडर जारी कर दिए जाएंगे।

अब तक 26 कराेड़ के काम हुए 

पड़ताल में आया शहर में 2017 में स्मार्ट सिटी का काम शुरू हुआ। तीन साल में सरकारी भवनाें पर तीन चरणाें में 13.8 कराेड़ के साेलर रूफटाॅप सयंत्र और 6.25 कराेड़ से स्मार्ट शाैचालय बनाए गए। स्मार्ट शाैचालय एेसी जगह बना दिए गए जाे अनुपयाेगी हैं। राजस्थान स्कूल ऑफ आर्ट का 1.79 कराेड़ से जीर्णोद्धार, इंटिग्रेटेड सिटी ऑपरेशन सेंटर पर 3.7 कराेड़ और वाॅल सिटी के स्कूलाें में स्मार्ट क्लास रूम पर 89 लाख रुपए खर्च हुए। स्मार्ट साइकिल स्टैंड के भी शुरू हाेने से पहले ही खस्ताहाल हाे गए। 

390 कराेड़ के काम पूरे हाेने की डेडलाइन खत्म

10 बाजाराें और वाॅल सिटी के साताें जंक्शन पर 390 कराेड़ के प्रोजेक्ट चल रहे हैं। अभी जीर्णाद्वार और निर्माण शुरू नहीं हुए।  जाे काम चल भी रहे हैं, अधूरे हैं।  9 बाजारों में 145 कराेड़ से स्मार्ट सड़क बनाने, फुलवारी और हैरिटेज लाइटे लगाई जानी है। शहर में अभी तक अफसर किशनपाेल बाजार में ही काम करा सके हैं। 

279 कराेड़ के 19 प्रोजेक्ट तय पर अभी टेंडर ही नहीं
279 कराेड़ से स्मार्ट सिटी के 26 प्रोजेक्ट तय हैं लेकिन अभी टेंडर ताे दूर डीपीअार तक नहीं बन पाई हैं। इस राशि से रामनिवास बाग में स्मार्ट पार्किंग, चाैगान में खेलकूद सुविधाअाें, अातिश मार्केट में मल्टीलेवल पार्किंग, तालकटोरा की मरम्मत, 30 सरकारी स्कूलाें काे अाैर स्मार्ट बनाए जाने में, महाराजा लाइब्रेरी काे स्मार्ट बनाए जाने में, नाइट बाजार के लिए, वाॅल सिटी में नालाें के जीर्णोद्धार के लिए, हैरिटेज वाॅक समेत कई काम होने हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना