--Advertisement--

डेंगू का खौफ / जयपुर में वॉल सिटी पहले, सोडाला व टोंक रोड दूसरे तथा शास्त्री नगर तीसरे नंबर पर



Jaipur : wall city no. one in dengue cases
X
Jaipur : wall city no. one in dengue cases

  • भास्कर सर्वे : नगर निगम निगम सात वार्ड तक ही सीमित रह गया फोगिंग, शहर की गलियों में पनपते लार्वा
     

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 03:35 PM IST

जयपुर। जीका वायरस के प्रकोप के बाद अब शहर में डेंगू का खौफ है। चिकित्सा विभाग व नगर निगम की लापरवाही के चलते अकेले जयपुर में ही डेंगू के 3 हजार मामले मिलने पर दोनों विभाग की ओर से बीमारी रोकने के इंतजामों के दावों की पोल खोल दी है। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि विभाग कितना अलर्ट है।

डेंगू के मामलों में वॉल सिटी पहले नंबर पर

  1. शहर की वॉल सिटी यानी चारदीवारी में डेंगू के 130 मामले मिलने पर पहले नंबर पर है। दूसरे नंबर पर सोडाला व टोंक रोड़ हैं। तीसरे नंबर पर शास्त्री नगर है। विभाग की एंटीलार्वा गतिविधि, फोगिंग व सर्वे पर सवाल उठने लगे है। यह खुलासा भास्कर ने 14 साल के बच्चे की मौत के बाद शहर में मच्छर जनित बीमारी डेंगू के किस-किस इलाकों में फैलने का विश्लेषण करने पर हुआ। 
     

  2. फोगिंग में निगम सात वार्ड तक ही सीमित रह गया

    सबसे चौंकाने वाली जानकारी यह है कि सबसे अधिक सुरक्षित व पॉश इलाका सिविल लाइंस भी डेंगू से अछूता नहीं है। अब सवाल उठता है कि चिकित्सा विभाग व नगर निगम को हर साल प्रभावित क्षेत्रों की जानकारी होने के बावजूद पहले से क्यों नहीं चेता? शहर का जीका वायरस का प्रकोप सामने आने के बाद निगम का सात वार्ड में ही फोगिंग सीमित रह गया।

  3. विद्याधर नगर जोन के वार्ड 9,10, 23, 24, 81, 82, 83 वार्ड जिका वायर से प्रभावित थे। इन वार्ड में एक माह से फोगिंग लगातार की जा रही है। इसी दौरान डेंगू ने शहर में पैर पसार लिए। निगम ने मच्छरों को कंट्रोल में करने के लिए 36 थर्मल पोर्टेबल मशीनों से फोगिंग करवा रहा है। जिससे इन वार्डों में जीका वायरस को फैलने से तो रोक दिया, लेकिन डेंगू को रोकने में सफल नहीं हो पाए।

  4. जयपुर में किस साल कितने केसेज व डेथ

    वर्ष  केसेज डेथ
    2016
     
    1215 12
    2017 2201 03

     

     

  5. कौन-कौनसा एरिया प्रभावित

     

    एरिया का नाम  संख्या
    वाल सिटी एरिया 130
    टोंक रोड़ / सोडाला   70
    शास्त्री नगर 50
    सांगानेर 40
    आमेर/ झोटवाड़ा 35
    मालवीय नगर 30
    राजा पार्क / तिलक नगर 23
    सिरसी 22
    बनीपार्क 20
    अजमेर रोड 20
    मानसरोवर 18
    विद्याधर नगर 15
    मुरलीपुरा 14
    आगरा रोड 13
    जगतपुरा 10
    गांधी नगर 10
    दुर्गापुरा 06
    सिविल लाइंस / सी-स्कीम 07
    नाहरी का नाका 05
    दुर्गापुरा 05
    नाहरगढ़ रोड 03
       

     

     

  6. ये भी प्रभावित : शाहपुरा (50), कोटपूतली (33), जमवारामगढ़ (30), बस्सी (27), गोविन्दगढ़ (25),विराट नगर (20), दूदू (15), विराट नगर (13), चाकसू (18), सांभर (10) व फागी (10)

     

    प्रदेश में डेंगू 7 हजार के पार : प्रदेश में इस साल डेंगू के अब तक 7 हजार 100 पॉजिटिव मिल चुके हैं। इनमें से 11 लोग मौत के मुंह में जा चुके हैं। प्रभावित जिलों में जयपुर समेत कोटा, अजमेर, अलवर, सीकर, धोलपुर, जोधपुर, झुन्झुनू, टोंक, श्रीगंगानगर, बीकानेर, भरतपुर, बांरा व दौसा है।

  7. इनका कहना है

    एडीज मच्छर के काटने से डेंगू के जयपुर में ज्यादा केसेज मिलने का कारण जगह-जगह निर्माण कार्य अधिक होना, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट तथा राज्य भर से लोगों का आना-जाना लगा रहता है। नगर निगम की ओर से प्रभावित क्षेत्रों में न केवल फोगिंग बल्कि लार्वा मिलने पर जुर्माना भी कर रहा है। चिकित्सा विभाग की ओर से एंटीलार्वा गतिविधि व सर्वे भी करवाया जा रहा है।
    डॉ. रवि प्रकाश माथुर, अतिरिक्त निदेशक (ग्रामीण स्वास्थ्य)

     

     

  8. नगर निगम शहर में पहली बार 36 मशीनों से सघन फोगिंग की जा रही है। शहर में मार्गों के साथ गलियों में भी फोगिंग की जाएगी। फोगिंग के लिए जालोर, पाली से भी 26 मशीनें मंगवाई गई है।
    डॉ.सोनिया अग्रवाल, स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम जयपुर

     

    स्टोरी : सुरेन्द्र स्वामी

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..