--Advertisement--

मकर सक्रांति / छतों पर दिन में वो काटा वो मारा का शोर, रात को आतिशबाजी से गुलजार हुआ आसमां

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 10:23 PM IST


शाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमां शाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमां
शाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमां शाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमां
दिनभर छतों पर चला वो काटा वो मारा का दौर दिनभर छतों पर चला वो काटा वो मारा का दौर
X
शाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमांशाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमां
शाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमांशाम ढलते ही रंग आतिशबाजी से सज गया आसमां
दिनभर छतों पर चला वो काटा वो मारा का दौरदिनभर छतों पर चला वो काटा वो मारा का दौर

  • पतंगबाजी के साथ चला तिल के लड्‌डू, फीणी और पकाैड़ी के खाने का दौर

जयपुर. राजधानी में मकर सक्रांति के अवसर पर जमकर पतंगबाजी हुई। दिनभर वो काटा वो मारा का शोर शहर की छतों पर गूंजता रहा। आज मौसम ने भी पतंगबाजों का साथ दिया। इससे अलसुबह से लेकर शाम तक आसमां रंग बिरंगी पतंगों से भरा नजर आया।

 

वहीं, शाम ढलते ही पतंगबाजी का सिलसिला खूबसूरत आतिशबाजी में तब्दील हो गया और आसमां में चारों तरफ विशिंग लैंप नजर उड़ते नजर आए। वहीं, रंग बिरंगी आतिशबाजी से माहौल खुशनुमा हो गया।

 

पतंगबाजी का असली मजा शहर की चारदीवारी के इलाके में नजर आया। जहां शहर से बाहर कॉलोनियों में रहने वाले लोगों ने परकोट में रहने वाले अपने रिश्तेदारों के यहां पहुंचकर पतंगबाजी का आनंद लिया।

 

दिनभर जमकर पतंगबाजी के बाद शहरवासियों ने शाम ढलते ही जमकर आतिशबाजी की। कई मकानों की छतों पर डीजे की धुन पर शहरवासी झूमते, नाचते-गाते नजर आए। इसी बीच तिल के लड्ड़, पकौड़ी, फीणी और लजीज व्यंजनों के खाने पीने के दौर भी चलता रहा। जिसका कर किसी ने लुत्फ उठाया।

 

फोटो: मनोज श्रेष्ठ

Astrology

Recommended

Click to listen..