वन-वे में गलत दिशा से वाहन आया तो फटेगा टायर / वन-वे में गलत दिशा से वाहन आया तो फटेगा टायर

News - विदेशों की तरह सड़क दुर्घटनाओं पर रोक लगाने और ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए पुलिस जयपुर शहर में यातायात...

Bhaskar News Network

May 08, 2018, 02:40 AM IST
वन-वे में गलत दिशा से वाहन आया तो फटेगा टायर
विदेशों की तरह सड़क दुर्घटनाओं पर रोक लगाने और ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए पुलिस जयपुर शहर में यातायात स्पाइक्स बैरियर (रोड ब्लेड) लगाने जा रही है। फिलहाल यह व्यवस्था पायलेट प्रोजेक्ट के तहत शुरू की जा रही है। अब वन-वे करने के दौरान अगर कोई वाहन गलत दिशा से आएगा तो ये रोड ब्लेड उसके टायर को पंचर कर देगा। इसके लिए वन-वे मार्गों पर नुकीले स्पाइक्स बैरियर लगाए जाएंगे। बैरियर की चौड़ाई करीब चार मीटर होगी। हाल ही में पुलिस मुख्यालय में डीजीपी ओपी गल्होत्रा ने पुलिस आधुनिकीकरण को लेकर एडीजी स्तर के पुलिस अधिकारियों की मीटिंग ली थी। उस मीटिंग में यह निर्णय लिया गया है। माना जा रहा है कि पायलेट प्रोजेक्ट के तहत सबसे पहले जयपुर कमिश्नरेट में वन-वे मार्गों में एक मार्ग चिन्हित किया जाएगा और वहां पर रोड ब्लेड लगाई जाएगी। इसके परिणाम सही मिलने पर जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, भरतपुर, कोटा, बीकानेर और अजमेर में रोड ब्लेड लगाए जाएंगे। इसके लिए पुलिस मुख्यालय ने प्रस्ताव बनाकर गृह विभाग को भेजने की तैयारी कर ली है। गृह विभाग से अनुमोदन होने के बाद रोड ब्लेड खरीदने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

सही दिशा में चले तो वाहन नहीं होंगे पंचर

सूत्रों ने बताया कि अमेरिका, ब्राजील और साउथ अफ्रीका में यातायात को सुधारने के लिए वन-वे मार्गों पर रोड ब्लेड लगा रखे है। राजस्थान पुलिस द्वारा पहली बार रोड ब्लेड का प्रयोग करके यातायात में सुधार किया जाएगा। इससे सड़क दुर्घटनाओं पर भी अंकुश लगेगा। वन-वे मार्ग पर सही दिशा से आने वाले वाहनों के टायर पंचर नहीं होंगे। क्योंकि स्पाइक्स को क्रास करने के दौरान रोड ब्लड ऑटोमेटिक नीचे हो जाएंगे। जबकि गलत दिशा से आने वाले वाहन के टायर में रोड ब्लेड घुस जाएंगे। इससे टायर पंचर हो जाएगा।

गलत दिशा में चलने से हर साल 170 की मौत

प्रदेश में पिछले 4 साल के आंकड़ों के अनुसार हर साल सड़क हादसों में करीब 10 हजार लोगों की मौत हो जाती है। जबकि गलत दिशा में वाहन चलाने से औसतन हर साल 150 से 170 लोगों की मौत हो जाती है। जयपुर कमिश्नरेट में हर साल 25 लोगों की मौत ऐसे हादसों में हो जाती है। क्योंकि चालक वन-वे में गलत दिशा से आकर रफ्तार में वाहन निकालते हैं। ऐसे में हादसा तय है।

पूना में हो गया था फेल

हादसे राेकने और ट्रैफिक सुधार को पूना पुलिस ने भी कुछ मार्गों पर रोड ब्लेड लगाकर ट्रायल की थी। लेकिन परिणाम सही नहीं आने पर योजना फेल हो गई थी। क्योंकि वहां बिना योजना वन-वे पर ब्लेड लगा दी थी।


10000

लोगों की सड़क हादसों में होती है मौत

X
वन-वे में गलत दिशा से वाहन आया तो फटेगा टायर
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना