Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» मल्टीप्लेक्स के अंदर फूड आइटम एमआरपी पर क्यों नहीं मिलते ?

मल्टीप्लेक्स के अंदर फूड आइटम एमआरपी पर क्यों नहीं मिलते ?

City Reporter

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 12, 2018, 02:51 AM IST

मल्टीप्लेक्स के अंदर फूड आइटम एमआरपी पर क्यों नहीं मिलते ?
City Reporter जयपुर

मल्टीप्लेक्स में मनमानी कीमतों पर खाने-पीने की चीजें बेची जा रही हैं। जबकि नियम कहता है कि एमआरपी से ज्यादा दाम नहीं वसूल सकते। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में उपभोक्ता कोर्ट ने मल्टीप्लेक्स में बाहर का खाना ले जाने की मंजूरी दे दी है। साथ ही एमआरपी से ज्यादा कीमत पर सामान बेचने के लिए तीन कंपनियों पर पांच लाख जुर्माना भी लगाया है। ऐसे में सवाल उठता है कि राजस्थान के मल्टीप्लेक्स में बाहर का खाना अलाउ क्यों नहीं किया जा सकता? और एमआरपी से ज्यादा दाम वसूलने पर कोई एक्शन क्यों नहीं लिया जाता?

जानिए...क्या कहता है कानून

2018 में राष्ट्रीय आयोग उपभोक्ता संरक्षण का फैसला आ चुका है, जिसके मुताबिक एमआरपी से ज्यादा पैसे नहीं वसूल सकते। अब यह लाइसेंस अथॉरिटी को जांचना चाहिए कि सुविधाएं कैसी हैं, उस आधार पर रेट तय हों। एमआरपी पर न बेचने पर जुर्माने और सजा का भी प्रावधान है। - डीएम माथुर, सीनियर एडवोकेट, उपभोक्ता कानून

जयपुर के कुछ मल्टीप्लेक्स में 20 रु. एमआरपी वाली पानी की बॉटल 50 रु. तक बेची जा रही

पब्लिक का सुझाव... टिकट के साथ फूड पर 50% डिस्काउंट के कूपन दें खाद्य आपूर्ति मंत्री अौर कमिश्नर बोले... पहले ऑर्डर आने दें, तब देखेंगे

‘बाहर से पॉपकॉर्न-सॉफ्ट ड्रिंक लाने दें’

मल्टीप्लेक्स को हर जगह एक फीडबैक फॉर्म रखना चाहिए, जहां लोग रेट का सुझाव दें। साथ ही बाहर से सिर्फ पॉपकॉर्न और सॉफ्ट ड्रिंक लाने की इजाजत दे देनी चाहिए। - अजय डाटा, डाटा इन्फोसिस

मंत्री : प्रोविजन देखने के बाद कमेंट करूंगा

मैं पहले जो भी इस संबंध में प्राेविजंस हैं, उन्हें देखूंगा। उसके आधार पर ही कुछ बता सकता हूं। इस इश्यू पर पहले भी कन्ट्रोवर्सी भी हो गई थी। पहले सब देखूंगा, समझूंगा, फिर कोई कमेंट करूंगा। बाबू लाल वर्मा, खाद्य व नागरिक आपूर्ति मंत्री, राजस्थान

पढ़िए...मल्टीप्लेक्स क्या कह रहे

सिनेमा ओनर्स का कहना है कि बाहरी खाना लाना अलाउड करने से सिक्योरिटी के लिए लोगों को कम से कम आधा घंटा पहले हॉल में आना होगा। साथ ही खान-पान से जुड़ी धार्मिक परेशानियां सामने आएंगी और जब बाहरी खाना हॉल में लाया जाएगा तो मेंटीनेंस बढ़ेगा। ये खर्च टिकट में शामिल होगा, जिससे दाम बढ़ेंगे।

नियम

एमआरपी से ज्यादा पैसे नहीं वसूल सकते, ऐसा किया तो मोटा जुर्माना लग सकता है

कमिश्नर: फूड एरिया का लाइसेंस नहीं देते

कोर्ट के फैसले और ऑर्डर की स्टडी करेंगे। हम सिनेमाहॉल्स को लाइसेंस देते हैं, लेकिन फूड एरिया का नहीं। फिर भी पूरे मुद्दे को समझकर आम जन को राहत देने के लिए उचित कार्यवाही की जाएगी। - नितिन दीप ब्लग्गन , एडिशनल पुलिस कमिश्नर, जयपुर

समझिए...अभी फैसला आना बाकी

कोर्ट के ऑर्डर के बाद पता चलेगा कि किस तरह का खाना आम लोग अंदर ले जा सकेंगे। वैसे भी महाराष्ट्र कोर्ट में मल्टीप्लेक्स में बाहरी खाने को लेकर फैसला आना बाकी है। देखना होगा कि फैसला पूरे देश में लागू होता है या फिर सिर्फ महाराष्ट्र तक सीमित रहता है। - राज बंसल, सेक्रेट्री, राजस्थान फिल्म ट्रेड एंड प्रमोशन काउंसिल

‘आकर्षक प्राइस भी सेट कर सकते हैं’

टिकट के साथ कूपन देने चाहिए, जिसमें फूड को 50% की दर तक उपलब्ध कराने का ऑफर हो। बच्चों और युवाओं के लिए आकर्षक प्राइस सेट करने से भी फायदा मिलेगा। - नवीन माथुर, रिटायर्ड प्रो. आरयू

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×