Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Rs.184 करोड़ की संपत्तियां कुर्क

Rs.184 करोड़ की संपत्तियां कुर्क

जयपुर | प्रवर्तन निदेशालय ने सिंडीकेट बैंक घोटाले के आरोपियों की 184 करोड़ रुपए की संपत्तियां गुरुवार को कुर्क कर ली...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 04:00 AM IST

Rs.184 करोड़ की संपत्तियां कुर्क
जयपुर | प्रवर्तन निदेशालय ने सिंडीकेट बैंक घोटाले के आरोपियों की 184 करोड़ रुपए की संपत्तियां गुरुवार को कुर्क कर ली हैं। इनमें 162 प्रॉपर्टी हैं। देश के आठ शहरों में स्थित इन संपत्तियों में से अधिकांश जयपुर में हैं। इसी मामले में डेढ़ साल पहले 118 करोड़ रुपए की संपत्तियां कुर्क की गई थी। ऐसे में अब तक कुल 302 करोड़ रुपए की संपत्तियों ईडी कार्रवाई कर चुकी है। सभी प्रापर्टियों की रजिस्ट्री वैल्यू ही जोड़ी गई है, हालांकि इनकी बाजार कीमत दो से चार गुना तक ज्यादा हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने सिंडीकेट बैंक में घोटाला कर बनाई गई 345 संपत्तियों को कुर्क कर लिया। मुख्य आरोपी भरत बंब, शंकर लाल खंडेलवाल, हिमांशु वर्मा, बैंक मैनेजर संतोष गुप्ता, देशराज मीणा और उनके परिजनों की प्रॉपर्टी भी शामिल हैं। कुर्क किए गए बंब के 99 बैंक खातों में 26.42 करोड़ रुपए, 66.88 लाख रुपए की नकदी, खंडेलवाल के 25 खातों में 10.11 लाख रुपए और अधिकारियों के 58 खातों में 2.14 करोड़ रुपए हैं। इसी तरह कुर्क की गई बंब की 2 प्रॉपर्टी की कीमत 4.44 करोड़, खंडेलवाल की 143 प्रॉपर्टी की कीमत 129.69 करोड़ और अधिकारियों की 10 प्रॉपर्टी की कीमत 3.48 करोड़ रुपए है।

बड़ी प्रॉपर्टी : होटल पार्क पैराडाइज, अजमेर रोड पर ठीकरिया स्थित एक फार्म हाउस, कालवाड़ रोड पर ज्वैलरी और फर्नीचर का शोरूम, शास्त्री नगर में गुमान इंटरनिटी अपार्टमेंट के दो ब्लॉक के फ्लैट।

गुमान हाइट्स अपार्टमेंट के फ्लैट, पार्थ सिटी फेज 1 में प्लॉट और बंगले, एयरपोर्ट एनक्लेव पर प्लॉट संख्या ए-5 का एक हिस्सा।

कालवाड़ रोड पर चंपापुरा में जमीन, सीकर के श्रीमाधोपुर में एक आयरन एवं स्टील फैक्ट्री, पंजाब के राजपुरा और पटियाला में औद्योगिक भूमि

जांच के दायरे में यह संपत्तियां

घोटाले से बनाई गई संपत्तियों की जांच जारी है। इनमें जयपुर और उदयपुर की कई संपत्तियां शामिल हैं। ईडी इन संदिग्ध संपत्तियों को किसी अन्य के खरीदने के बाद भी कुर्क कर सकती है। हालांकि निदेशालय ने इनके बारे में संबंधित सबरजिस्ट्रार को सूचना भेजी जा चुकी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×