--Advertisement--

गाय के सींग मारने से घायल महिला की हालत में सुधार नहीं

जयपुर | टोंक रोड स्थित जय जवान कॉलोनी द्वितीय में बुधवार को गाय के सींग मारने से घायल महिला की हालत में कोई सुधार...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:00 AM IST
जयपुर | टोंक रोड स्थित जय जवान कॉलोनी द्वितीय में बुधवार को गाय के सींग मारने से घायल महिला की हालत में कोई सुधार नहीं है। जवाहर सर्किल स्थित एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। जहां गुरुवार को भी डॉक्टरों ने रजनी भावनानी का सीटी स्केन, एमआरआई सहित अन्य जांचे की। उनके ब्रेन में क्लॉट बताया जा रहा है। वे अचेत अवस्था में हैं। उधर, निगम की गौशाला शाखा घटना के अगले दिन भी एक्शन में नहीं आई। निगम ने कोई कार्रवाई नहीं की। बल्कि अफसर जाप्ता नहीं होने की बात कहते रहे।

घटना के बावजूद गुरूवार को भी नगर निगम नही चेता। निगम की ओर से जय जवान कॉलोनी और आस-पास कोई कार्रवाई नही की है। लोगों का कहना था कि यहां 16 अवैध पशु डेयरियां चल रही है। गुरूवार को कार्रवाई के डर से डेयरी संचालकों ने अपने पशुओं को इधर उधर कर दिया। स्थानीय लोगों का कहना है कि कुछ डेयरी संचालक अपने पशुओं को पैरों में लकड़ी या प्लास्टिक का कड़ा पहना कर रखते हैं। ताकि उनके पशुओं की पहचान हो जाए और निगम कर्मचारी पकड़े नहीं। यानी यह पशु मिलीभगत से सड़कों पर घूम रहे हैं। नगर निगम की पशु शाखा ने अवैध पशु डेयरियां हटाने के लिए सतर्कता शाखा के अलावा अतिरिक्त पुलिस जाप्ता मांगा है। उपायुक्त गोशाला व मुख्य पशु चिकित्सक डॉ. हरेंद्र चिराणा ने अतिरिक्त जाब्ता के लिए अतिरिक्त निगम कमिश्नर हरसहाय मीना से आग्रह किया है।



मीना ने सतर्कता शाखा से पूरे शहर में अवैध पशु डेयरियों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। शहर की चारदीवारी में करीब 18 अवैध पशु डेयरियां संचालित हैं। जबकि बाहरी कॉलोनियों में इनकी संख्या 40 से ज्यादा बताई जा रही है।

निगम टीम गाय पकड़ने नहीं निकली