--Advertisement--

सुहागिनों ने सोलह शृंगार कर मनाया सिंजारा, आज तीज माता की पूजा

राजस्थान का लोकपर्व हरियाली तीज सोमवार को श्रद्धा के साथ पारंपरिक रूप से मनाया जाएगा। पार्वती स्वरूपा तीज माता...

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 04:25 AM IST
सुहागिनों ने सोलह शृंगार कर मनाया सिंजारा, आज तीज माता की पूजा
राजस्थान का लोकपर्व हरियाली तीज सोमवार को श्रद्धा के साथ पारंपरिक रूप से मनाया जाएगा। पार्वती स्वरूपा तीज माता के पूजन के दिन सोमवार होने से इस पर्व का विशेष महत्व हो गया है। इससे पूर्व रविवार को महिलाओं ने सिंजारा पर्व मनाया। दिनभर मॉल्स के बाहर मेहंदी रचाने वाली महिलाओं और हलवाइयों के यहां खासकर चारदीवारी में घेवर खरीदने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ती रही। तीज माता की पारम्परिक सवारी सोमवार को शाम 6 बजे सिटी पैलेस से शाही ठाठ-बाट के साथ निकलेगी। चांदी की पालकी में तीज माता को कहार अपने कंधों पर लेकर चलेंगे। खासकर सबसे आगे पूर्व राजपरिवार का हाथी नहान चलेगा। उसके बाद माता की सवारी और ऊंट, घोड़े, बैंड का लवाजमा होगा। रास्ते भर कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए चलेंगे। शाही सवारी के दर्शन करने ग्रामीण दोपहर को ही जयपुर पहुंच जाएंगे। पर्यटकों के लिए हिंद होटल की छत पर बैठने की व्यवस्था की गई है। छोटी चौपड़ होते हुए शोभायात्रा तालकटोरा पहुंचकर संपन्न होगी। तीज के लिए आधे दिन का अवकाश होगा। मंगलवार को बूढ़ी तीज की शोभायात्रा निकलेगी।

महिलाएं सुबह सोलह शृंगार कर दिनभर व्रत रखेंगी। सामूहिक रूप से तीज माता का पूजन कर घेवर का भोग लगाएंगी। पूजन के लिए मिट्टी की तीज बनाएंगी। पूजा के बाद बाग-बगीचों में झूला झूलने जाएंगी। इससे पूर्व रविवार को महिलाओं ने सिंजारा मनाया। महिलाओं ने शहर में जगह-जगह और मॉल्स के बाहर मेहंदी डिजाइनर्स से हाथों में खूबसूरत मेहंदी रचवाई। दुकानों में दिनभर नई डिजाइन के लहरिये खरीदने वाली नवविवाहिताओं, युवतियों की भीड़ लगी रही। कई मंदिरों में भी सिंजारा महोत्सव मनाया गया। गोविंददेव जी मंदिर के पीछे स्थित तालकटोरा की पाल पर सिंजारा उत्सव मनाया गया। अाराध्य देव गोविंददेवजी सहित बड़ी चौपड़ स्थित श्रीलक्ष्मी नारायण बाइजी मंदिर, गलताजी, चांदनी चौक स्थित बृजनिधिजी का मंदिर, राधा-दामोदरजी का मंदिर, आनंद कृष्ण बिहारीजी का मंदिर सहित अन्य मंदिरों में सिंजारा मनाया गया। यहां ठाकुरजी की लहरिये की विशेष झांकियां सजाई गई। मंदिर के गर्भगृह को रंग-बिरंगी लहरिया साड़ी से सजाया गया। सोमवार को तीज महोत्सव में घेवर और खीर का भोग लगेगा। गोविंददेवजी सहित कई मंदिरों में झूला महोत्सव मनाया गया। सभी मंदिरों में परंपरागत रूप से झूला उत्सव में राधा-गोविंददेवजी, लक्ष्मीनारायण बाईजी, श्रीसीतारामजी, श्रीरामललाजी एवं श्रीज्ञान गोपालजी को आकर्षक झूले में झूला झुलाया गया।

जयपुर | विजयवर्गीय (वैश्य) महिला मंडल की लहरिये से सजी सदस्याओं ने हरियाली तीज महोत्सव मनाया। गेम्स प्रश्नोतरी में शैल विजयवर्गीय विजेता रहीं। तीज क्वीन का खिताब ज्योति विजयवर्गीय के नाम रहा। सभी विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।

X
सुहागिनों ने सोलह शृंगार कर मनाया सिंजारा, आज तीज माता की पूजा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..