--Advertisement--

जहां शंका है, वहां मार्ग नहीं मिलता : गौरवमती

जनकपुरी-ज्योतिनगर दिगंबर जैन मंदिर में 12वां संयम वर्षायोग कर रहीं आर्यिका गौरवमती माताजी ने गुरुवार सुबह...

Dainik Bhaskar

Aug 10, 2018, 04:26 AM IST
जहां शंका है, वहां मार्ग नहीं मिलता : गौरवमती
जनकपुरी-ज्योतिनगर दिगंबर जैन मंदिर में 12वां संयम वर्षायोग कर रहीं आर्यिका गौरवमती माताजी ने गुरुवार सुबह स्वाध्याय सभा अपने आशीर्वचन में कहा कि जीवन में प्रत्येक प्राणी अगर लक्ष्य पर आशा रख और ध्यान केंद्रित कर मार्ग प्रशस्त करने की ओर बढ़ रहा है और यदि उस मार्ग में कोई प्रश्न या शंका उत्पन्न करता है तो वह मार्ग कभी नहीं मिलता। लक्ष्य मार्ग को प्रशस्त करना है तो जिज्ञासा और उत्साह रखें। कारण कि प्रत्येक लक्ष्य को क्रिया य| पूर्वक करने से मार्ग की प्राप्ति होती है।

लक्ष्यों के प्रति हमेशा सजग रहो : विज्ञाश्री

वरुण पथ के जैन मंदिर में हुई धर्मसभा में आर्यिका विज्ञाश्री माताजी ने कहा कि दुनिया के महान व्यक्ति केवल इसीलिए सफल हो पाए क्योंकि प्रत्येक क्षण वे अपने उद्देश्य में, संकल्प में संलग्न रहे।

अपने लक्ष्यों के प्रति हमेशा सजग रहो। कल के लिए कार्यों को कभी भी मत टालो। समय अनुकूल ना हो तो भी कर्म करना बंद मत करो। कर्म करने पर तो हार या जीत कुछ भी मिल सकती है पर कर्म ना करने पर केवल हार ही मिलती है ।

X
जहां शंका है, वहां मार्ग नहीं मिलता : गौरवमती
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..