Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» नेता को सदन में पहुंचाने के लिए जनता को भूले कांग्रेसी, कपड़े फटे, पार्षद बेसुध

नेता को सदन में पहुंचाने के लिए जनता को भूले कांग्रेसी, कपड़े फटे, पार्षद बेसुध

6 माह बाद हुई निगम की साधारण सभा गुरुवार को बिना विपक्ष 11 घंटे चली। तीन प्रस्तावों पर चर्चा में 91 में 53 पार्षद ही अपनी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 04:30 AM IST

  • नेता को सदन में पहुंचाने के लिए जनता 
को भूले कांग्रेसी, कपड़े फटे, पार्षद बेसुध
    +2और स्लाइड देखें
    6 माह बाद हुई निगम की साधारण सभा गुरुवार को बिना विपक्ष 11 घंटे चली। तीन प्रस्तावों पर चर्चा में 91 में 53 पार्षद ही अपनी बात रख पाए। कांग्रेसी पार्षद सदन का बहिष्कार करने के चलते चर्चा में शामिल नहीं हुए वहीं 3 भाजपाई पार्षदों ने अपनी बात नहीं रखी। ऐसा पहली बार है जब विपक्ष का एक भी सदस्य नहीं था। सदन से निष्कासित पार्षद धर्मसिंह सिंघानिया को सदन में लाने के प्रयास में पुलिस और कांग्रेसियों में झड़प भी हुई। उपनेता के कपड़े भी फटे, एक महिला पार्षद बेसुध हो गई। दूसरी ओर, बैठक में विपक्ष मौजूद न रहा हो, लेकिन सत्तादल के ही कई नाराज पार्षदों ने विपक्ष की भूमिका निभाई और मेयर व डोर टू डोर कंपनी पर घेरा। भाजपा पार्षद अनिल शर्मा, श्वेता शर्मा व मान पंडित ने भ्रष्टाचार में लिप्त अफसरों पर शिथिलता देने का मेयर पर आरोप लगाया। पार्षदों ने 6 माह बाद बोर्ड बैठक होने और अधिकारियों द्वारा दूसरे शहरों का दौरा करने का मामला भी उठाया।

    भाजपाई पार्षदों के इन सवालों पर घिरे मेयर

    भाजपा पार्षद मान पंडित ने स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान जगह-जगह दीवारों पर पेंटिंग पर सवाल उठाए। कहा कि इन पर तिरंगा उकेरा गया। यह गंभीर है क्योंकि उसी तिरंगे पर लोग लघुशंका कर रहे है, जो अपमान है।

    भाजपा पार्षद अनिल शर्मा ने डोर टू डोर कार्य कर रही बीवीजी कंपनी पर आरोप लगाया कि मेयर व अफसर कंपनी चलाना चाहते हैं, निगम के सारे संसाधन दे दिए। बिलों का नियमानुसार निस्तारण नहीं हो रहा।

    पार्षद श्वेता शर्मा ने पार्को में लगाए कम्पोस्ट प्लांट पर एक भी जगह खाद नहीं बनने और भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाया।

    पार्षद प्रकाश गुप्ता ने कहा निगम के सीएसआई और एसआई खुले आम डकैती कर रहे है। अपनी मनमर्जी से कैरिंग चार्ज की वसूली के नाम पर दुकानों से पैसा वसूल रहे हैं।

    बिना विपक्ष के 11 घंटे तक चली, बीवीजी कंपनी, भ्रष्टाचार और कार्यशैली पर अपनों ने मेयर को घेरा

    विकास की बात करनी थी तब कांग्रेसी धरने पर थे

    पिछली बोर्ड बैठक में कांग्रेसी पार्षद दल के उपनेता धर्मसिंह सिंघानिया को मेयर ने तीन बैठकों से निष्कासित कर दिया था। कांग्रेसियों को विरोध करना था तो उन्होंने प्री बोर्ड बैठक की प्लानिंग के तहत इसे ही मुद्दा बना डाला। मेयर अशोक लाहोटी ने दो वरिष्ठ पार्षद मंजू शर्मा व उमरदराज को बुलाकर कहा कि वे लिखित में निष्कासन रद्द करने का पत्र दे दें वे तो तत्काल प्रभाव से सिंघानिया का निष्कासन रद्द कर दिया जाएगा। लेकिन कांग्रेसी पार्षद लक्की मोरानी, मुकेश शर्मा, मोहन मीणा जबरन ही सिंघानियां को सदन के भीतर ले जाने पर अड़े रहे। नतीजा, कांग्रेसी अपने वार्डों की समस्याओं को सदन में नहीं रख सके। यानी उनके वार्डों में विकास की गति धीमी ही रहेगी और जनता परेशान रहेगी, यह तय है।

    भाजपाई पार्षदों में आपस में हुई नोक झोंक

    पार्षद रॉबिन सिंह पर पार्षद दिनेश कांवट को मजाक महंगा पड़ गया। पार्षद रॉबिन को बोलने का मौका दिया तो 12 बज रहे थे। इस पर कांवट ने मजाकिया अंदाज में तंज कसा। इश पर गुस्साए रॉबिन ने सिख और हिन्दू धर्म से जोड़ते हुए व्याख्या की। हमारे धर्म में कुर्बानी देना सिखाया है तो हम हकीकत बताना भी जानते हैं। बाद में कांवट ने कहा अगर आपको ठेस पहुंची है तो माफी मांगता हूं, मैं केवल मजाक कर रहा था।

    पार्षद विष्णु लाटा ने बीवीजी कंपनी को एडवांस भुगतान पर सवाल खड़े किए और दोषियों पर कार्यवाही की मांग की। हालांकि इस बात पार्षद बाबूलाल दांतोनिया ने टोको तो दोनों के बीच बहस हो गई।

  • नेता को सदन में पहुंचाने के लिए जनता 
को भूले कांग्रेसी, कपड़े फटे, पार्षद बेसुध
    +2और स्लाइड देखें
  • नेता को सदन में पहुंचाने के लिए जनता 
को भूले कांग्रेसी, कपड़े फटे, पार्षद बेसुध
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×