Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» बिटकॉइन के नाम पर अमेरिकियों को ठग रहे हो... यही धमकी देकर एसआई ने मांगे थे Rs.50 लाख

बिटकॉइन के नाम पर अमेरिकियों को ठग रहे हो... यही धमकी देकर एसआई ने मांगे थे Rs.50 लाख

मालवीयनगर में रहने वाले दो युवक दुर्गापुरा महारानी फार्म में किराये की बिल्डिंग में साइबर नेटिक्स वेब सॉल्यूशन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 10, 2018, 04:31 AM IST

  • बिटकॉइन के नाम पर अमेरिकियों को ठग रहे हो... यही धमकी देकर एसआई ने मांगे थे Rs.50 लाख
    +1और स्लाइड देखें
    मालवीयनगर में रहने वाले दो युवक दुर्गापुरा महारानी फार्म में किराये की बिल्डिंग में साइबर नेटिक्स वेब सॉल्यूशन नाम से फर्म चला रहे थे। उसी ऑफिस में संचालकों ने अन्य फर्म भी संचालित कर रखी थी। मैनेजर अमित कुमार ने ही एसीबी को इस मामले में शिकायत की थी। सोनू नाम के एजेंट ने ऑफिस के फोन की 3 घंटे की रिकॉर्डिंग की थी। इसे उसने एक पेन ड्राइव में लेकर बबीता के पति अमरदीप को दिया था। कंपनी का काम ऑनलाइन मार्केटिंग और विज्ञापन डिजाइनिंग का है, लेकिन बताया जा रहा है कि उस पेन ड्राइव में अमेरिका समेत कई देशों से आने वाली कॉल की रिकॉर्डिंग और बिटकॉइन की खरीद-फरोख्त का जिक्र है।

    करोड़ों की कमाई, एसआई की नजर में आई

    कंपनी मैनेजर अमित कुमार और संचालक दिल्ली व चंडीगढ़ के रहने वाले हैं। वे डेढ़ साल पहले जयपुर आए थे और 1.50 लाख रुपए प्रति माह पर महारानी फार्म के पास किराये की बिल्डिंग में कंपनी शुरू की थी। कंपनी का दूसरा ऑफिस शिप्रापथ विजयपथ तिराहे के पास भी है। कंपनी के संचालकों ने डेढ़ साल में बिटकॉइन के नाम पर लोगों से 5 करोड़ रुपए से ज्यादा कमाए हैं। एसआई बबीता को पता चला तो रिश्वत मांगी। कंपनी के संचालक ने एसीपी स्तर के पुलिस अधिकारी की सलाह पर एसीबी को शिकायत कर दी।

    बबीता 8 साल की नौकरी में दूसरी दफा सस्पेंड : एसीबी की कार्रवाई के बाद पुलिस कमिश्नर ने शिप्रापथ थाने में तैनात एसआई बबीता चौधरी को सस्पेंड कर दिया। बबीता 8 साल के कार्यकाल में दूसरी दफा सस्पेंड हुई है। एसीबी ने मंगलवार को बबीता और उसके पति अमरदीप को थाने के सामने एक फर्म संचालक से पांच लाख रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था। आरोपियों ने आईटी एक्ट में फंसाने की धमकी 50 लाख रुपए की डिमांड की थी।

    क्राइम रिपोर्टर | जयपुर

    5 लाख रुपए की रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार शिप्रापथ थाने की एसआई बबीता चौधरी ने 3 दिन में 15 से ज्यादा बार कॉल करके कंपनी संचालकों को बुलाया था। सूत्रों की मानें तो एसआई और उसका पति अमरदीप कंपनी संचालकों को बिटकॉइन के नाम पर अमेरिकियों समेत कई विदेशियों से ठगी करने के आरोप में फंसाने की बात कह रहे थे। आईटी एक्ट में कार्रवाई की बात कह रहे थे। आरोपी धमका रहे थे कि लेन-देन की पूरी रिकॉर्डिंग और सबूत हैं। केस नहीं दर्ज करने की एवज में ही 45 लाख रुपए की रिश्वत की डील फाइनल हुई थी। कंपनी संचालकों की शिकायत के बाद पहली किस्त के 5 लाख रुपए रिश्वत के साथ एसीबी ने बबीता और अमरदीप को गिरफ्तार किया था। अमरदीप के पास कंपनी के खिलाफ उन सबूतों की जांच भी एसीबी कर रही है, जिसके आधार पर संचालकों को ब्लैकमेल किया जा था। एसीबी यह भी पड़ताल कर रही है कि जिस पेन ड्राइव और रिकॉर्डिंग का जिक्र हो रहा है, उसमें आखिर ऐसे क्या सबूत हैं?

    कंपनी की वेबसाइट पर बिटकॉइन...

    कंपनी की वेबसाइट पर एक नंबर है। उसी नंबर के पास लिख रखा है- बिटकॉइन के लिए संपर्क करें। संचालकों ने ऑफिस में कई युवक-युवतियों को नौकरी पर रखा था। ज्यादातर काम रात को ही होता था। एसीबी के प्रकरण में सत्यापन के दौरान कंपनी संचालकों के पास लग्जरी गाड़ियों और आलीशान मकान होने की बात सामने आई थी। फर्म पोप-अप और लोन दिलाने का काम भी करती थी। इसकी पूरी रिकॉर्डिंग पेन ड्राइव में है।

  • बिटकॉइन के नाम पर अमेरिकियों को ठग रहे हो... यही धमकी देकर एसआई ने मांगे थे Rs.50 लाख
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×