Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» बच्ची को अगवा करने के आरोपियों को राहत नहीं

बच्ची को अगवा करने के आरोपियों को राहत नहीं

हाईकोर्ट ने 11 साल की बच्ची के अपहरण व खरीद-फरोख्त के आरोप मामले में 12 आरोपियों की याचिका बुधवार को खारिज कर दी। वहीं...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 04:31 AM IST

हाईकोर्ट ने 11 साल की बच्ची के अपहरण व खरीद-फरोख्त के आरोप मामले में 12 आरोपियों की याचिका बुधवार को खारिज कर दी। वहीं कोर्ट में पेश हुई 11 साल की बच्ची के भविष्य को देखते हुए उसकी मॉनिटरिंग महिला आईपीएस तेजस्वी गाैतम को दी है। अदालत ने तेजस्वनी गाैतम को कहा कि वह बच्ची को एक अच्छे एनजीओ में भिजवाएं। न्यायाधीश केएस अहलूवालिया ने यह आदेश आरोपी दत्ती व अन्य की याचिका खारिज कर दिया। इस मामले में अदालत में मंगलवार को बच्ची को उसके बुआ-फूफा ने पेश किया था। जिस पर अदालत ने बच्ची की खरीद-फरोख्त की आशंका के चलते उसकी काउंसलिंग के लिए महिला अाईपीएस तेजस्वनी गौतम व महिला वकील श्रुति दीक्षित को नियुक्त किया। दोनों ने बच्ची की काउंसलिंग की और उसमें पाया कि उसकी मां उसे पीटती है और ताऊ भी अच्छा बर्ताव नहीं करते। उसकी मां ने पहले भी दो बहनों को बेच दिया था। उसके बुआ-फूफा भी सगे नहीं हैं और दूर के रिश्तेदार हैं। लोक अभियोजक प्रकाश ठाकुरिया ने बताया कि याचिका में आरोपी ने खुद को बच्ची का मंगेतर बताते हुए उनके खिलाफ अपहरण केस में दर्ज एफआईआर को रद्द करने का आग्रह किया था। इसमें कहा था कि बच्ची के ताऊ ने खेड़ली पुलिस थाने में प्रार्थियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था। लेकिन अब बच्ची की मां ने लक्ष्मणगढ़ पुलिस थाने में पुन: 12 जनों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया है। उन पर झूठे आरोप लगाए हैं इसलिए उनके खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द किया जाए। अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद तय किया कि केस रदद करने की याचिका खारिज की जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×