• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • News
  • सरकार बदल रही हिंदू बहुल गांवों के मुस्लिम नाम, तर्क अटक रही थी हिंदू युवाओं की शादी

सरकार बदल रही हिंदू बहुल गांवों के मुस्लिम नाम, तर्क-अटक रही थी हिंदू युवाओं की शादी / सरकार बदल रही हिंदू बहुल गांवों के मुस्लिम नाम, तर्क-अटक रही थी हिंदू युवाओं की शादी

News - जयपुर | राज्य सरकार हिंदू बहुल गांवों के मुस्लिम नाम बदल रही है। इसके पीछे कारण भी अनूठा बताया जा रहा है।...

Bhaskar News Network

Aug 10, 2018, 04:31 AM IST
सरकार बदल रही हिंदू बहुल गांवों के मुस्लिम नाम, तर्क-अटक रही थी हिंदू युवाओं की शादी
जयपुर | राज्य सरकार हिंदू बहुल गांवों के मुस्लिम नाम बदल रही है। इसके पीछे कारण भी अनूठा बताया जा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि कई गांवों के लोगों की शिकायतें थी कि गांव का नाम मुस्लिम होने के कारण हिंदु युवाओं की शादियों में अड़चनें आ रही हैंै। इसके बाद ग्राम पंचायत स्तर से ही इन गांवों के नाम बदलने का प्रस्ताव आया था। सरकार ने केंद्र से ऐसे 27 गांवों के नाम बदलने की मंजूरी मांगी है। इनमें से 8 के नाम बदलने की मंजूरी मिल चुकी है। अधिकतर मुस्लिम नाम वाले गांव हैं। किसी भी गांव का नाम बदलने के लिए पंचायत सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर राजस्व विभाग को भिजवाती है। इसकी पुष्टि करने के बाद राज्य सरकार की ओर से केंद्र को प्रस्ताव भेजा जाता है। अनुमति मिलने के बाद नाम बदलने की प्रक्रिया शुरू की जाती है।



सलेमाबाद अब श्रीनिंबार्क तीर्थ

पहले नाम : मियों का बाड़ा, बाड़मेर

अब : महेशनगर

पहले नाम : इस्माइलपुर, झुंझुनूं

अब : पिचानवा खुर्द

पहले नाम : सलेमाबाद, अजमेर

अब : श्रीनिंबार्क तीर्थ

इनके बदलना प्रस्तावित

अभी नया नाम

मोहम्मदपुरा, चित्तौड़ मेडी का खेड़ा

नवाबपुरा नईसरथल

रामपुर आजमपुर सीतारामजी खेड़ा

मंडफिया, चित्तौड़ सांवलियाजी

आबादी दो हजार, मुस्लिम परिवार 4

यहां चंद परिवार ही मुस्लिम

मुस्लिम परिवार एक, बाकी हिंदू


X
सरकार बदल रही हिंदू बहुल गांवों के मुस्लिम नाम, तर्क-अटक रही थी हिंदू युवाओं की शादी
COMMENT