• Home
  • Rajasthan News
  • Jaipur News
  • News
  • जाॅर्जट साड़ियों पर सिल्वर और कॉपर जरी का फ्यूजन आर्टवर्क
--Advertisement--

जाॅर्जट साड़ियों पर सिल्वर और कॉपर जरी का फ्यूजन आर्टवर्क

शहर में फेस्टिव सीजन को ध्यान में रखते हुए तरह-तरह के आर्ट एंड क्राफ्ट को एक ही छत के नीचे एग्जीबिट किया है। बिड़ला...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 04:35 AM IST
शहर में फेस्टिव सीजन को ध्यान में रखते हुए तरह-तरह के आर्ट एंड क्राफ्ट को एक ही छत के नीचे एग्जीबिट किया है। बिड़ला ऑडिटोरियम में आर्ट एंड क्राफ्ट को पसंद करने वाले लोगों का खासा फुट-फॉल देखने को मिल रहा है। सिल्क एक्सपो में देशभर की सिल्क वैरायटी को डिसप्ले किया गया है। इनमें प्योर सिल्क, घीचा सिल्क, टस्सर सिल्क, खादी सिल्क, उपाड़ा सिल्क, कॉटन सिल्क, मर्साइज सिल्क जैसी वैरायटी शामिल हैं। समर सीजन को देखते फेस्टिव और वेडिंग रेंज में ब्राइडल दुपट्टे, सिल्क, चंदेरी और कॉटन सिल्क पर बाटीक प्रिंट, जरी वर्क, मिरर वर्क के साथ दुपट्टे की भी वाइड रेंज और कलर को डिसप्ले किया है। बनारस से सबसे ज्यादा आर्टिजन्स ने यहां बनारसी, जार्जेट, चंदेरी और ब्रॉकेड में बनी ट्रेडिशनल साड़ियों को एग्जीबिट किया है। बनारस के आर्टिजन आंचल कतान सिल्क पर बनी बनारसी साड़ी के कलेक्शन को लेकर आए हैं, जिसमें सिंगल शेड, डबल शेड और मल्टी कलर में खड्डी वर्क शामिल है। इन साड़ियों की खास बात है कि इन्हें बनाने में कई कारीगरों को एक साथ लगना पड़ता है और 4 से 6 महीने में एक साड़ी बन कर तैयार होती है। किसी में एंटिक जरी, किसी में सिल्वर जरी तो किसी में मल्टी कलर रेशम वर्क किए गए हैं। एक तरफ ट्रेडिशनल जंगला बनारसी जिसपर जाल नुमा सिल्वर जरी से आर्ट वर्क किया है, वहीं जाॅर्जट पर सिल्वर और काॅपर जरी से फ्यूजन आर्ट वर्क किया गया है। दिल्ली के आर्टिजन पाकिस्तानी सूट और फैब्रिक को लेकर आए हैं, जिसमें सीक्वेंस, थ्रेड और गोटापत्ती वर्क किए हैं। एग्जीबिशन 15 जुलाई तक चलेगी।