--Advertisement--

कंप्यूटर की गलती तो अभ्यर्थी प्रभावित नहीं होे सकते: हाईकोर्ट

आरजेएस भर्ती: 2017 की मुख्य परीक्षा का मामला जयपुर | हाईकोर्ट ने आरजेएस भर्ती परीक्षा-2017 के मामले में प्रार्थी...

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 04:35 AM IST
आरजेएस भर्ती: 2017 की मुख्य परीक्षा का मामला

जयपुर | हाईकोर्ट ने आरजेएस भर्ती परीक्षा-2017 के मामले में प्रार्थी अभ्यर्थी को राहत देते हुए उसे मुख्य परीक्षा में शामिल करने का निर्देश दिया है। वहीं कहा है कि परीक्षा की ओएमआर शीट में दिए किसी जवाब को यदि कम्प्यूटर ने नहीं पढ़ा है तो इससे अभ्यर्थी प्रभावित नहीं होना चाहिए। न्यायाधीश एम.एन.भंडारी व डीसी सोमानी की खंडपीठ ने यह आदेश अंशुमान वशिष्ठ की याचिका पर दिया। याचिका में कहा कि हाईकोर्ट प्रशासन की आरजेएस भर्ती की प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम 17 मई को जारी किया था। परीक्षा में हाईकोर्ट प्रशासन ने पांच प्रश्नों को डिलीट भी किया था। याचिका में कहा कि उसके 63 प्रश्न सही थे, लेकिन अंक 62 प्रश्नों के ही मिले। इस कारण वह मुख्य परीक्षा से वंचित हो गया। खंडपीठ ने दोनों पक्षों को सुनकर प्रार्थी को पात्र मानते हुए मुख्य परीक्षा में शामिल करने का निर्देश दिया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..